एसडी काॅलेज ऑफ मैनेजमेन्ट स्टडीज में बीसीए तृतीय सेमेस्टर का परीक्षाफल घोषित होने पर उत्तीर्ण छात्र-छात्राओं के लिए कार्यक्रम आयोजित

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। माँ शाकुम्भरी विश्वविद्यालय द्वारा बीसीए तृतीय सेमेस्टर का परीक्षाफल घोषित होने के उपलक्ष मे एसडी काॅलेज ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें 82.33 प्रतिशत अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान पर आने वाली विनिता, 82 प्रतिशत अंक प्राप्त कर द्वितीय स्थान पर आने वाली कनन तायल व 80.8 प्रतिशत अंक प्राप्त कर संयूक्त रूप से तृतीय स्थान पर आने वाली इकमकार कौर व सलोनी को विशेष रूप् से सम्मानित किया गया। संस्थान के मीडिया प्रभारी डा0 आलोक कुमार गुप्ता ने बताया कि एसडी काॅलेज ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज मे बीसीए तृतीय सेमेस्टर के 87 प्रतिशत छात्र-छात्रा प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण रहे। 

कार्यक्रम में काॅलेज प्राचार्य डा0 संदीप मित्तल ने कहा कि शिक्षकों की महत्ता विद्यार्थियों के विकास के लिए बहुत अहम होती है। उन्होंने कहा कि उनके द्वारा प्रगति के लिए प्रयास करें। उन्होंने कहा कि शिक्षा का उद्देश्य प्रगतिशील विद्यार्थियों का निर्माण करना है, न कि केवल वे जो पूर्णता के पीछे अस्पष्ट रूप से भागते है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को समाज में स्वतंत्र और जिम्मेदार नागरिकों के रूप में तैयार करना व शिक्षा के माध्यम से उन्हें सामाजिक और नैतिक मूल्यों की सीख देते हैं, जो समाज के लिए एक सकारात्मक मानसिकता भी प्रदान करते है। उन्होंने कहा कि कठिनाइयों से सीखें, क्योकिं ये सभी आपके कौशल और क्षमताओं को निखारेंगे और अंततः आपको एक बेहतर और सीखा हुआ व्यक्ति बनायेगें। उन्होने विभाग के विभागाध्यक्ष व सभी शिक्षकों का आभार व्यक्त किया। उन्होनें उत्तीर्ण छात्राओं को स्मृति चिन्ह व प्रस्तति पत्र देकर सम्मानित किया।

विभागाध्यक्ष डा0 संजीव तायल ने अपने सम्बोधन में कहा कि छात्रों का मार्गदर्शन करना एक शिक्षक के काम का सबसे महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक है। उन्होंने कहा कि महत्वपूर्ण निर्णयों पर काम करते समय उनका समर्थन करना, यह सुनिश्चित कर सकता है कि वे जीवन में वह रास्ता चुनें जो उनके लिए सही है। उन्हें अक्सर मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है। उन्होंने कहा कि सफलता की एक से अधिक राहें है। उन्होंने कहा कि शैक्षिक निर्देशन बालक की अपने कार्यक्रम को बुद्विमत्तापूर्वक नियोजित कर पाने में सहायता प्रदान करता है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को ऐसे पाठ्य विषयों का चुनाव करने में सहायता देता है, जो उनकी बौद्विक क्षमताओं, रूचियों योग्यताओं तथा व्यक्तित्व संबंधी विशेषताओं के अनुकूल हों और उन्हें योग्य बना देता है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा छात्र-छात्रायें अपने बीसीए के अन्तिम वर्ष में कामयाबी हासिल करने के पश्चात् विभिन्न कम्पनियों में ट्रेनिंग करेगें, जिसकी अधिकांश व्यवस्था काॅलेज के माध्यम से करायी जाती है।

इस अवसर पर चाॅदना दीक्षित, मौ0 अन्जर, मोहित गोयल, अनुज गोयल, राहुल शर्मा, हर्षित गर्ग, रोबिन मलिक, श्वेता, शशांक भारद्वाज, हर्षिता, प्रियंका, निरंकार शर्मा, वैभव वत्स, प्रशांन्त गुप्ता, विनिता चौधरी, अमित व उमेश मलिक आदि शिक्षक व स्टाॅफ नें प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं को बधाई व आर्शीवाद दिया।


Comments
Popular posts
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय धरेच में आयोजित दश दिवसीय संस्कृत संभाषण शिविर सम्पन्न
Image
एडीएम वित्त ने मारा छापा, तहसील के क्वार्टर में सरकारी कामकाज करते पकड़ दो बाहरी व्यक्ति
Image
लेखपालों के पास कुछ प्राइवेट हेल्परों को कार्य करते हुए रंगे हाथ पकड़ा
Image
जिलाधिकारी मनीष बंसल ने किया कलेक्ट्रेट परिसर का निरीक्षण
Image
राजस्व परिषद के अध्यक्ष डॉ0 रजनीश दुबे ने किया कलैक्ट्रेट के विभिन्न पटलों, कंट्रोल रूम का निरीक्षण, राजस्व कार्यों की समीक्षा बैठक भी की, बन्दोबस्त अधिकारी चकबन्दी के पेशकार को निलम्बित करने के निर्देश
Image