उत्तर प्रदेश पावर कार्पोरेशन का घोटाला, स्मार्ट मीटर जांच में फेल


शि.वा.ब्यूरो, लखनऊ। उत्तर प्रदेश पावर कार्पोरेशन में धांधली से जुड़ी एक खबर सामने आई है। सूबे में लगने वाला बिजली का स्मार्ट मीटर जांच में फेल हो गया है। पिछले दिनों लोड जम्पिंग की शिकायत के बाद मीटर सेंट्रल पावर रिसर्च इंस्टीट्यूट नोएडा भेजे गए थे, जहां जांच के बाद अहम पैमाने कॉन्स्टेंट में ही मीटरों को फेल पाया गया। जांच में पाया गया कि मीटर बनाने वाली जीनस, जेन और आईटीआई कंपनियां 100 फीसदी इंडियन हैं, लेकिन मीटर के अंदर लगी चिप और कुछ पुर्जे़ चायनीज हैं।


ज्ञात हो कि जीनस कंपनी के स्मार्ट मीटरों में गड़बड़ी पाई जा रही है। CPRI की रिपोर्ट में मीटर एक्युरेसी में दिक्कत बताई जा रही है। जानकारों के अनुसार मीटर में ब्लिंक करने वाली बत्ती को इम्पल्स कहते हैं। जीनस कंपनी के मीटर की इम्पल्स 3200 है। मतलब 3200 इम्पल्स पर 1 यूनिट बिजली खर्च होती है, लेकिन इन मीटरों में दिक्कत यह है कि चिप गर्म होते ही इम्पल्स की रफ्तार तेज हो रही है और उसी हिसाब से यूनिट भी। यूनिट बढ़ते ही बिजली का लोड अचानक बढ़ जाता है। इसी यूनिट और लोड जंप से बिजली बिल ज्यादा आ रहा है।