सीएम योगी का दावाः सही वक्त पर सही कदम उठाने के कारण स्थिति अपेक्षाकृत ठीक है


शि.वा.ब्यूरो, लखनऊ। कोरोना महामारी के समबन्ध में आयोजित प्रेस कान्फ्रेंस में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा समय पर उठाये गये सही कदम की बदौलत आज हालांकि स्थिति दुर्भाग्यपूर्ण है, लेकिन अपेक्षाकृत ठीक है। उन्होंने बताया कि इस समय अमेरिका में 10 लाख से ज्यादा लोग कोरोना की चपेट में हैं और अमेरिका में 56 हजार से ज्यादा की मौत इस वायरस की वजह से हो चुकी हैं। स्पेन, ईरान, फ्रांस, टर्की में भी इस महामारी ने तबाही मचा रखी है। महाशक्ति वाले देश आज कोरोना से बेहाल हैं। उन्होंने बताया कि दुनिया के 200 से ज्यादा देश कोरोना वायरस की चपेट में हैं। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि दूरगामी परिणाम को समय से भांपते हुए पीएम मोदी ने समय से कदम उठाए थे, उन्होंने कहा कि 22 मार्च को जनता कफ्र्यू के बाद देशभर में  लाॅकडाउन जारी कर दिया गया था, अन्य देशों की तुलना में हमारे यहां नुकसान की स्थिति कम है। उन्होंने कहा समय से लॉकडाउन लागू होने से संक्रमण फैलने से रुका है। सीएम योगी ने कहा कि हम लोगों ने सभी कार्यक्रम लागू किए है। सीएम ने कहा कि लाॅकडाउन के दौरान 4 लाख लोगों को सुरक्षित घरों तक पहुंचाया गया है। उन्हें क्वारेंटाइन, शेल्टर होम में रखा गया, उनके लिए दवा, खाना-पानी की व्यवस्था की। उन्होंने बताया कि 6 लाख से अधिक कामगारों को घर भेजा जा चुका है। वे कामगारों को हर सम्भव रोजगार देने का प्रयास कर रहे है। उन्होंने कहा कि इस दौरान दूसरी चुनौती प्रतियोगी छात्रों को दूसरे प्रदेशों से घर लाने की थी, लेकिन छात्रों को घरों तक पहुंचाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्थिति से निपटने के लिए अलग-अलग प्रकार की टीम बनाई गयी हैं। मंत्रियों, अफसरों को भी जिम्मेदारी दी गयी है। उन्होंने कहा कि मैं स्वयं रोजाना समीक्षा करता हूं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पढ़ाकुओं को संदेश देते हुए कहा कि वे पाठ्यक्रम को घर में बैठकर पूरा कर सकते हैं, सभी घर में भी ऑनलाइन पढ़ाई करें। उन्होंने परिवार में भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने का संदेश दिया।



अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने कहा कि ने लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के साथ साफ-सफाई की व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के आदेश दिये हैं। श्री अवस्थी ने कहा कि हाटस्पॉट इलाकों के प्रत्येक घर को सैनिटाइज किया जायेगा।उन्होंने निर्देश दिये कि स्1,स्2,स्3 अस्पतालों का अधिकारी खुद निरीक्षण करें। उन्होंने सभी टेस्टिंग लैब्स में पूल टेस्टिंग कराने के निर्देश भी दिये। उन्होंने कहा कि किसी भी कीमत पर मेडिकल इंफेक्शन बढ़ने न दिया जाये। अपर मुख्य सचिव श्री अवस्थी ने कहा कि 7425 औद्योगिक इकाइयां चल रहीं हैं। इसके साथ ही प्रदेश में 81 चीनी मिलें भी चल रहीं हैं। उन्होंने अफसरों को निर्देश दिये कि ईंट व अन्य निर्माण सामग्रियों को लाने ले जाने पर किसी को रोका न जाये। श्री अवस्थी ने कहा कि प्रदेश में इस समय 1612 ऐक्टिव मामले हैं। अब तक 400 ठीक हो चुके हैं और कोरोना से 31 लोगों की मौत हो चुकी है। उन्होंने सभी से किसी भी प्रकार की अफवाह न फैलाने की अपील भी की।