अब जनपद में सुबह सात बजे से शाम चार बजे तक खुलेंगी कृषि, स्पेयर पार्टस, सर्विस सेंटर व उपकरणों की दुकानें


शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण को रोकने की दृष्टि से जनपद में लगाई गई धरा 144 में किसानों व कृषि कार्य से जुडे लोगों को छूट प्रदान की है। डीएम ने बताया कि शुक्रवार से सुबह सात बजे से शाम 4 बजे तक कृषि कार्य से जुडी सभी दुकानें खोले रखने की छूट दी गई है। जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने जिला पंचायत सभागार में पत्रकारों से वार्ता करते हुए बताया कि जनपद मुजफ्फरनगर में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिये धारा 144 लगाई गई थी, जिसमें अब कुछ छूट दी जा रही है। जिलाधिकारी ने बताया कि किसानों एवं आम नागरिकों के हितों के दृष्टिगत आंशिक संशोधन करते हुए 17 अप्रैल शुक्रवार से कृषि एवं सहवर्ती उपकरणों की दुकान, सर्विस सेंटर, स्पेयर पार्टस की दुकानों, यथ आवश्यक कृषकों की सुविधा के अनुरूप नगर क्षेत्र एवं कस्बों में प्रात: 7 बजे से शाम चार बजे तक खोले रखने की छूट दी जाती है। डीएम ने बताया कि आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति में प्रयुक्त भारी वाहन/ट्रक/ढुलाई में प्रयुक्त छोटे वाहनों की मरम्मत की दुकानें, हाईवे व पैट्रोल पम्प के आसपास खोलने की छूट दी जाती है। डीएम ने जानकारी दी कि मुजफ्फरनगर क्षेत्र में रेस्टोरेंट, चिकन सेंटर, अंडा एवं मत्स्य उत्पादों की दुकानों को खोलने की अनुमति इस शर्त के साथ दी जाती है कि उक्त उत्पादों की केवल होम डिलिवरी की जायेगी। दुकान से उक्त उत्पादों की बिक्री किसी भी दशा में नहीं की जायेगी। साथ ही अपनी दुकान, संस्थान पर साफ सफाई का विशेष ध्यान रखा जाये तथा दुकान आदि के सेनेटाईजेंशन की व्यवस्था भी की जाये।


डीएम ने बताया कि उक्त आदेश तत्काल प्रभावी होंगे। डीएम ने यह भी जानकारी दी कि कृषि से सम्बंधित सभी दुकानें सुबह सात बजे से शाम चार बजे तक खुलेंगी, लेकिन टायर पंक्चर और ट्रैक्टर की मरम्मत की दुकानें पूरे दिन खुली रहेंगी। उन्होंने बताया कि अब सरकारी कर्मचारी भी बेवजह जिला का बार्डर पार नहीं कर पायेंगे और अनावश्यक दूसरे जनपद में जाने पर सरकारी कर्मचारियों पर भी कार्यवाही की जायेगी। डीएम ने बताया कि दिल्ली में पिज्जा डिलिवरी ब्वाय के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद मुजफ्फरनगर में प्रशासन ने निर्णय लिया है कि सभी डिलिवरी ब्वाय की मैडिकल जांच कराई जायेगी, जिसमें सबसे पहले थर्मल स्क्रेनिंग जांच होगी और कोई दिक्कत होने पर सैेंपल लेकर भी जांच की जायेगी।


डीएम ने बताया कि अभी भी जनपद से 120 सैम्पल जांच के लिये गये हैं, जिनकी रिपोर्ट आनी बाकी है। एसएसपी ने भी कहा कि यदि लॉकडाउन का बार-बार उल्लंघन किया जायेगा, तो हिस्ट्रीशीट खोली जायेगी और रासुका जैसी कडी कार्यवाही भी की जायेगी। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर मौहल्ला किदवईनगर में ड्रोन से लोगों की पहचान कर पूरे मौहल्ले के खिलाफ ही एफआईआर दर्ज कराई गई है।


प्रेसवार्ता में सीएमओ डा. प्रवीन चौपड़ा, एडीएम प्रशासन अमित कुमार सिंह, एडीएम वित्त एवं राजस्व आलोक कुमार आदि भी मौजूद रहे।