श्री सम्मेद शिखर तीर्थ स्थल को पयर्टन स्थल बनाए जाने के मुद्दे पर ब्राह्मण समाज ने किया जैन समाज के आन्दोलन का समर्थन

गौरव सिंघल, देवबंद। जैन समाज के तीर्थ स्थल सम्मेद शिखर को पर्यटन स्थल बनाए जाने के विरोध का ब्राह्मण समाज ने भी समर्थन किया और जैन समाज के इस आंदोलन में पूरी तरह से साथ देने का फैसला किया है। बैठक में ब्राह्मण समाज की ओर से एक बैठक देवबंद में आयोजित कर समर्थन देने का निर्णय लिया गया।  

ब्राह्मण समाज के युवा नेता रोहित कौशिक ने कहा कि जैन समाज के तीर्थ स्थल सम्मेद शिखर को पर्यटक स्थल बनाने के फैसले को झारखंड सरकार तुरंत वापस ले। इस  दौरान युवा ब्राह्मण नेता  शुभम वत्स और ईशान गौड ने कहा कि बड़े शर्म की बात है कि एक मुनि ने सम्मेद शिखर को तीर्थ स्थल रखने के लिए जिंदा समाधि ले ली बावजूद उसके झारखंड सरकार अभी तक सो रही है ऐसे में वहां के मुख्यमंत्री पर हत्या मुकदमा दर्ज होना चाहिए। ब्राह्मण समाज पूरे जैन समाज के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा रहेगा। यह अकेले जैन समाज की लड़ाई नहीं अपितु सर्व समाज की लड़ाई है। बैठक के दौरान मनोज भारद्वाज, मोहित शर्मा ने कहा कि केंद्र सरकार और झारखंड सरकार तीर्थ स्थल को तीर्थ स्थल रहने दे। सम्मेद शिखर पर्यटक केंद्र नहीं है। बैठक में उपस्थित सनत शर्मा, गोलू शर्मा, अजय शर्मा, विक्रांत, मनोज भारद्वाज, रविंद्र शर्मा, चेतन, आकाश शर्मा, विनय शर्मा, अरविंद शर्मा, शेखर शर्मा आदि उपस्थित रहे।