जिलाधिकारी ने दिये अवैध रूप से लिंग परीक्षण करने वालों के विरूद्ध कडी कार्यवाही करने के निर्देश

गौरव सिंघलसहारनपुर। जिलाधिकारी अखिलेश सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में मिशन वात्सल्य योजना के तहत गठित जिला बाल कल्याण एवं संरक्षण समिति, बेटी बचाओ-बेटी पढाओ योजना एवं बाल विवाह की रोकथाम हेतु गठित जिला टाॅस्क फोर्स समिति तथा जिला पोषण समिति की बैठक आहूत की गयी। बैठक में जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने निर्देश दिये कि अवैध रूप से लिंग परीक्षण करने वालों के विरूद्ध कडी कार्यवाही की जाए। पी.सी. एण्ड पी.एन.डी.टी. एक्ट का प्रभावी क्रियान्वयन हेतु गठित टीम द्वारा औचक छापा मारने की नियमित रूप से कार्यवाही की जाए। संस्थागत प्रसव पर विशेष बल दिया जाए तथा बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार किया जाए। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के आवेदन पत्र भरने हेतु आशा एवं ए0एन0एम0 को प्रेरित किया जाए। सुनिश्चित किया जाए कि जनपद में कहीं पर भी बाल विवाह जैसी घटनाएं न हो। समस्त थानों में पुलिस बीट के द्वारा बाल विवाह की सूचना प्राप्त होने पर उसकी रोकथाम हेतु त्वरित कार्यवाही हेतु कदम उठाया जाए। ग्राम प्रधानों, आंगनबाडी कार्यकत्रियों, सहायिकाओं, लेखपालों आदि को भी निर्देशित किया जाए कि बाल विवाह जैसी घटना संज्ञान में आते ही प्रशासन को सूचित करें। सभी माध्यमिक व उच्च माध्यमिक विद्यालयों में शत-प्रतिशत बालिका शौचालयों का निर्माण कर उन्हें पूरी तरह चालू करना सुनिश्चित किया जाए। इसी के साथ स्कूलों के माध्यम से भी बाल विवाह जैसी कुप्रथा को समाप्त करने हेतु जागरूक किया जाए। 

जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि पोषण ट्रैकर में शत-प्रतिशत सही फीडिंग सुनिश्चित की जाए। उन्होंने मुजफ्फराबाद, नानौता एवं पुंवारका की कम फीडिंग पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि फीडिंग में किसी भी प्रकार की समस्या आने पर अवगत कराते हुए निस्तारण के लिए कार्यवाही करें। उन्होने सख्त रूप से कहा कि इस बात का ध्यान रखा जाए कि फीडिंग के कारण जनपद की रैंकिंग प्रभावित न हो तथा रैंकिंग में सुधार के लिए प्रयास किये जाएं। आंगनबाडी केन्द्रों का सत्यापन रैण्डम आधार पर औचक निरीक्षण करते हुए किया जाए। जिनका आधार वैरीफिकेशन नहीं हुआ है उनका वैरीफिकेशन कराना सुनिश्चित किया जाए। ब्लाॅक स्तर पर मीटिंग करवायी जाए। सैम बच्चों की उपलब्ध सूची के अनुसार कार्य करना सुनिश्चित किया जाए। जीओ टैगिंग को शत-प्रतिशत किया जाए। 148 राजस्व ग्रामों में बनाए गये आदर्श आंगनबाडी केन्द्रों में नियुक्त नोडल अधिकारियों की बैठक करवाते हुए सभी शासनादेशों से अवगत कराया जाए। सभी आंगनबाडी कार्यकत्री घर-घर जाकर शत-प्रतिशत होम विजिट सुनिश्चित करें। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी विजय कुमार, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व  रजनीश कुमार मिश्र, जिला प्रोबेशन अधिकारी अभिषेक कुमार पाण्डेय, जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रीमती आशा त्रिपाठी, जिला खादी ग्रामोद्योग अधिकारी दीपक चन्द्र पंत, एसीएमओ डाॅ0 सत्यप्रकाश सहित सभी बाल विकास परियोजना अधिकारी उपस्थित रही।