युवा हमारे देश के कर्णधार
सविता सिंह मीरा, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। 
युवा हमारे देश के कर्णधार, 
उनके कंधों पर है देश का भार, 
प्रगति के मार्ग पर बढ़े  कदम 
यही है उन्नति का आधार।

हाथ पर हाथ धरे ना रहे बैठकर, 
लक्ष्य अपना रखे सहेज कर, 
मजाल जो करें उनका हौसला मंद, 
प्रभु ने जब दिए दो बलशाली कर। 

 शक्ति होती है अंतर्निहित 
बढ़े चलो अपने लक्ष्य के सहित 
मंजिल मिलेगी गर इरादा है बुलंद 
देश तुमसे ही होगा गौरवान्वित।

सँवरेगा हर मानव का जीवन 
सच्चाई की राह पर तेरे बढ़ते कदम
प्रबल रहे यही अगर विचार,
फिर प्रेरक बनेंगे तुम्हारे कथन।
 
अशिक्षा बलात्कार भ्रष्टाचार अत्याचार 
इनका होगा समूल सर्वनाश 
कर्तव्यनिष्ठ दृढ़ संकल्प से तेरे
खुशियों का धरा पर रहेगा वास।

तुमने लिया है ये जो संकल्प
देश का होगा कायाकल्प,
चहूँ ओर फैलेगा  उल्लास और हर्ष
अशिक्षा गरीबी रह जाएगी अल्प ।
जमशेदपुर, झारखंड