वृद्धवस्था पेंशन प्राप्त करने को आधार प्रमाणीकरण अनिवार्य

गौरव सिंघल, सहारनपुर। समाज कल्याण विभाग द्वारा राष्ट्रीय वृद्धवस्था पेंशन योजनान्तर्गत आधार प्रमाणीकरण को अनिवार्य किया गया है, जिसके अन्तर्गत मृतक एवं अपात्र लाभार्थियों को हटाने, डूप्लीकेट लाभार्थी और एक से अधिक स्थानों से अलग-अलग खाता संख्या लगाकर पेंशन प्राप्त करने वाले फर्जी लाभार्थियों को चिन्ह्ति कर हटाने की कार्यवाही की जा रही है। 

जिला समाज कल्याण अधिकारी अर्चना ने जानकारी देते हुए बताया कि विभाग द्वारा आधार प्रमाणीकरण के माध्यम से पारदर्शिता सुनिश्चित करने के साथ ही सही व्यक्ति तक योजना का लाभ पंहुचाना सुनिश्चित किया जा रहा है। विशेष अभियान चलाकर क्षेत्रीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों व पंचायत सहायकों के माध्यम से घर-घर जाकर सत्यापन करते हुए मृतक, अपात्र एवं फर्जी पाये 4649 लाभार्थियों को चिन्ह्ति कर पेंशन रोक दी गयी है। साथ ही आधार प्रमणीकृत 19013 नये पात्र लाभार्थियों की पेंशन स्वीकृत की गयी है। इस प्रकार जनपद में कुल 78091 आधार प्रमाणीकृत वृद्धावस्था पेंशन के लाभार्थियों को 1000 रूपये प्रतिमाह पेंशन की राशि तिमाही डी0बी0टी0 के माध्यम से प्रेषित की जा रही है। आधार प्रमाणीकरण का कार्य करने से लाभार्थियों को पेंशन की धनराशि मिलने में सुविधा होगी। निकट भविष्य में लाभार्थियों के बैंक आधार सीडिंग खातें में धनराशि भेजी जायेगी, जिससे बैंक का खाता अथवा आई0एफ0एस0सी0 कोड में परिवर्तन होने पर लाभार्थियों को पेंशन मिलने में किसी भी प्रकार की कठिनाई नहीं होगी। आधार प्रमाणीकरण का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि सही व्यक्तियों को योजना का लाभ प्राप्त हो। लाभार्थियों को दोहरे भुगतान से रोका जा सके एवं अधिक से अधिक वृद्धजन इस योजनान्तर्गत लाभान्वित हो सके।