त्रिवेणी शुगर मिल की पेराई शुरू
गौरव सिंघल, देवबंद। जिले की सबसे ज्यादा एक लाख चालीस हजार क्विंटल प्रतिदिन गन्ना पेराई करने वाली और पिछले कुछ वर्षों से समय पर गन्ना मूल्य का भुगतान करने वाली त्रिवेणी ग्रुप की देवबंद चीनी मिल ने आज पेराई सत्र की शुरूआत कर दी। इस मौके पर क्षेत्रीय विधायक एवं प्रदेश के लोक निर्माण राज्य मंत्री बृजेश रावत ने पूजन के बाद चीनी मिल की चेन में गन्ना डालकर पेराई सत्र की शुरूआत की। 
चीनी मिल के उपाध्यक्ष पुष्कर मिश्र, गन्ना प्रबंधक राजीव त्यागी, एचआर विभाग के प्रभारी श्रीकांत पांडे, वित्त विभाग के दिनेश गर्ग, योग गुरू स्वामी शांतनु जी महाराज, योग एवं ध्यान गुरू दीपांकर जी महाराज, जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष चौधरी राजपाल सिंह, भूमि विकास बैंक के प्रबंधक ठाकुर अनिल सिंह इस दौरान मौजूद रहे। 
लोक निर्माण मंत्री बृजेश रावत ने आज पेराई सत्र के मौके पर उपस्थित हजारों क्षेत्रीय गन्ना किसानों को बधाई दी। किसानों ने राज्य मंत्री बृजेश रावत का इस बात के लिए आभार जताया कि देवबंद चीनी मिल पिछले कई वर्षों से गन्ना मूल्य का समय से भुगतान कर रही है। किसानों की बढ़ती मांग को देखते हुए चीनी मिल प्रबंधकों ने कई वर्षों से बंद पड़े अपने चालीस हजार क्विंटल प्रतिदिन की पेराई करने वाले संयंत्र को इस बार शुरू कर दिया है। 
त्रिवेणी चीनी मिल के उपाध्यक्ष पुष्कर मिश्र ने बताया कि कई वर्षों बाद फिर से देवबंद चीनी मिल अपनी पुरानी क्षमता पर पेराई करेगी और इस चीनी मिल में तैयार चीनी को शुद्ध और साफ करने का नया संयंत्र भी लगाने का काम किया है। इस नए संयंत्र के लग जाने से यहां की चीनी की क्वालिटी सर्वोत्तम हो जाएगी। स्वामी शांतनु जी महाराज ने हवन-पूजन कराया। मिल में पांच पहले गन्ना लाने वाले किसानों को मिल की ओर से सम्मानित किया गया। 
त्रिवेणी चीनी मिल के उपाध्यक्ष पुष्कर मिश्र ने बताया कि इस बार भी किसानों को गन्ना मूल्य का भुगतान समय से ही किया जाएगा।