भारतीय जन महासभा के अध्यक्ष धर्म चंद्र पोद्दार ने एडवोकेट मदन मोहन यादव से ज्ञानवापी मंदिर मामले पर अद्यतन जानकारी प्राप्त की

शि.वा.ब्यूरो, वाराणसी। अंतर्राष्ट्रीय संगठन भारतीय जन महासभा के अध्यक्ष धर्म चंद्र पोद्दार ने वाराणसी की जिला अदालत परिसर में एडवोकेट मदन मोहन यादव से मुलाकात कर ज्ञानवापी मंदिर मामले पर अद्यतन जानकारी प्राप्त की। एडवोकेट मदन मोहन यादव ने धर्म चंद्र पोद्दार को बताया कि सिविल जज सीनियर डिविजन द्रुतगामी न्यायालय वाराणसी में यह मुकदमा है और इसके न्यायाधीश महेंद्र प्रताप पाण्डेय हैं।      

धर्म चंद्र पोद्दार ने बताया कि आदि विशेश्वर बनाम मैनेजमेंट अंजुमन इंतजामिया मस्जिद कमेटी वाराणसी के मुकदमे में विपक्षी अंजुमन इंतजामिया कमेटी जुलाई माह में ही उपस्थित था, लेकिन अभी तक इस मुकदमे में न्यायालय के समक्ष प्रतिवाद दाखिल नहीं किया है। उन्होंने कहा कि यह सदैव से ही मस्जिद पक्ष के द्वारा मुकदमे को लटकाओ- भटकाओ- अटकाओ की नीति रही है, इसलिए 29 नवंबर को सुनवाई के बाद न्यायालय ने 02 दिसम्बर 2022 तक विपक्षी को  प्रतिवाद दाखिल करने हेतु अन्तिम तिथि नियत की है।
एडवोकेट मदन मोहन यादव ने बताया कि 2 दिसंबर 2022 तक अगर प्रतिवाद दाखिल नहीं किया जाता है तो एकपक्षीय आदेश भी पारित हो सकता है। उन्होंने बताया कि इस प्रकार हिंदू समाज को आदि विश्वेशर महादेव की पूजा-अर्चना करने की इजाजत मिलने की संभावना बन रही है।