सिया राम इण्टर कॉलेज गागलहेड़ी में विधिक जागरूकता शिविर आयोजित

गौरव सिंघल, सहारनपुर। राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ से प्राप्त एक्शन प्लान के अन्तगर्त जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की अध्यक्ष व जनपद न्यायाधीश बबीता रानी के निर्देशन में सिया राम इण्टर कॉलेज गागलहेड़ी पर Sansitization for eradication of  Drugs, Smoking and Alcoholism  के विषय पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव सुमिता द्वारा विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया।  

शिविर में कक्षा 09 से 12 तक के छात्र- छात्राओं एवं शिक्षिकों ने प्रतिभागिता की। प्राधिकरण सचिव ने कहा कि शराब, तम्बाकू का सेवन सेहत के हानिकारक है, समय आ गया है कि इसे अमल में लाया जाये, क्योंकि Drug Addiction की उ0प्र0 में तकरीबन 95000 बच्चे गिरफ्त में है और यह आंकडा लगातार बढता जा रहा है। उन्होंने कहा कि इन सभी की यह सामाजिक जिम्मेदारी है कि शराब, तम्बाकू सिगरेट व किसी भी प्रकार के ड्रग्स के सेवन को बढावा ने दे, वरन उसको रोके ताकि जनमानस स्वस्थ व खुशहाल जीवन जी सके। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सबसे बडी दौलत है, इसको बरकरार रखकर ही हम अपने वांछित लक्ष्य को पा सकते है। 
सचिव ने विधालय प्रशासन से भी अपेक्षा कि कि वे इस तथ्य के प्रति जागरूक रहे कि उनके कॉलेज परिसर एवं उनके आस-पास किसी प्रकार के ड्रग्स, तम्बाकू व ध्रूमपान न किया जाये। उन्होने एनडीपीएस एक्ट के मुख्य प्रावधानों पर भी प्रकाश डाला और छात्र-छात्राओं से अपील की कि आप सभी किशोरवस्था में है और इस उम्र में नवीन चाजों के प्रति ढेरों जिज्ञासायें होती है और इन जिज्ञासाओं कोे ज्ञान प्राप्त करके पूर्ण किया जा सकता है, इसलिये आपका यह जानना जरूरी है कि क्या आपकी सेहत के लिये आवश्यक है और क्या नही। 
डॉ0 शिवांका गौड ने तम्बाकू, ध्रूमपान के सेवन से होने वाले कैंसर के बारे में एवं नशामुक्ति केन्द्रो में उपचार के बाबत जानकरी दी। थानाध्यक्ष ने नशामुक्ति अभियान में उजागर होने वाली वास्तविकता पर प्रकाश डाला। अन्त में प्राधिकरण सचिव ने सभी से अपेक्षा की कि 12 नवम्बर 2022 को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें छोटे-छोटे मामले एवं सुलह समझौते से मुकदमों का निस्तारण कराया जायेगा। साथ ही निःशुल्क विधिक सहायता के जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यालय में सम्पर्क किया जा सकता है और प्री-लिटिगेशन वादों, वैवाहिक/पारिवारिक वादों के निपटारें के लिये मध्यस्थता केन्द्र दीवानी न्यायालय के एडीआर में संचालित होता है, उसका भी लाभ उठाये।