कैंडिल फैक्टरी में आग लगने से मरने वालों की संख्या चार हुई

गौरव सिंघल, सहारनपुर। गांव बोडपुर में चल रही अवैध फायर कैंडिल फैक्टरी में आग लगने से गंभीर रूप से झुलसे किशोर और युवक ने उपचार के दौरान पीजीआई चंडीगढ़ में दम तोड़ दिया। इस हादसे में मरने वालों की संख्या अब चार हो गई है। सहारनपुर जनपद की गंगोह कोतवाली के गांव बोडपुर में एक सप्ताह पूर्व मसकीन के घेर में स्थित एक कमरे में चल रही फायर कैंडिल फैक्टरी में हुए विस्फोट में झुलसे शहजाद (27) पुत्र बिलाल, मोनिस (13) पुत्र मुस्तफा की भी उपचार के दौरान मौत हो गई। उनका चंडीगढ़ में उपचार चल रहा था। उनकी मौत से परिवार में कोहराम मच गया। कोतवाली प्रभारी ने बताया कि मामले में पुलिस ने घेर स्वामी मसकीन के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली थी। मसकीन अभी तक फरार चल रहा है।

उल्लेखनीय है कि फायर कैंडिल फैक्टरी में हुए विस्फोट में चार लोग गंभीर रूप से झुलसे थे। जिनमें ईजाजुल (20) पुत्र बिलाल और समीर (12) पुत्र काला की उपचार के लिए चंडीगढ़ ले जाते समय उसी समय मौत हो गई थी जबकि अन्य दो का उपचार किया जा रहा था। दोनों ही वहां जिंदगी व मौत के बीच जूझ रहे थे।  शहजाद व मोनसि की भी उपचार के दौरान मौत हो गई। इनकी मौत के बाद परिजनों में कोहराम मचा है।