माध्यमिक शिक्षा विभाग के तत्वाधान में एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित, जिला विद्यालय निरीक्षक गजेन्द्र कुमार द्वारा एडुस्टेयर्स वेबसाइट लाॅंच

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन एमजी पब्लिक स्कूल मुज़फ्फरनगर में किया गया, जिसमें सभी बोर्ड के माध्यमिक विद्यालयों के 220 शिक्षक शिक्षिकाओं व जिले के समस्त नोडल व सुपर नोडल अधिकारीयों ने प्रतिभाग किया। कार्यक्रम का शुभारम्भ जिला विद्यालय निरीक्षक गजेन्द्र कुमार ,प्रधानाचार्य ललित मोहन गुप्ता,  प्रधानाचार्य डॉ. विकास कुमार व प्रधानाचार्य मोनिका गर्ग द्वारा माँ सरस्वती के सम्मुख दीप प्रज्वलित करके किया गया। 

जिला विद्यालय निरीक्षक गजेन्द्र कुमार द्वारा एडुस्टेयर्स वेबसाइट को लंच किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि एडुस्टेयर्स पोर्टल के माध्यम से जिले के अधिक से अधिक शिक्षक शिक्षिकाओं प्रधानाचार्यों को डिजिटल रूप में प्रक्षिशित किए जाने का प्रयास किया जा रहा है माध्यमिक विद्यालयों के छात्र छात्राओं को विषय सम्बन्धी व सामयिक विषयों पर आधारित प्रश्नोत्तरी व अन्य इ सामग्री भी उपलब्ध कराई जाएगी उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुपालन में प्रत्येक शिक्षक को अपने टीचिंग लर्निंग प्रोसेस को और अधिक प्रभावी सरल सहज व रोचक बनाने के लिए विभिन्न सोफ्टवेयर सिमुलेशन एनिमेशन आदि की सहायता लेनी ही होगी, अन्यथा अध्यापक और विद्यार्थी के बीच डिजिटल अंतर बढ़ता जाएगा, जिसे कम करना भविष्य में सम्भव नही हो पाएगा

कार्यक्रम प्रभारी व मास्टर ट्रेनर डॉ. विकास कुमार द्वारा उपस्थित शिक्षक शिक्षिकाओं व जिले के समस्त नॉडल अधिकारियों को पीडीफ गूगल फॉर्म आदि बनाने व जिओजेब्रा, ओलेब्स,  फ्री मैथ आदि विभिन्न सॉफ्टवेयर का प्रक्षिशण दिया गया। उन्होंने इंस्पायर अवार्ड मानक योजना यूपीएमएसपी पोर्टल आदि की विस्तृत जानकारी भी दी | प्रधानाचार्य मोनिका गर्ग ने कहा कि कार्यशाला का आयोजन नियमित  होते रहना चाहिए उन्होंने कहा कि एक शिक्षक को हमेशा अपडेट होने की आवश्यकता होती है। कार्यक्रम का संचालन डॉ. विकास कुमार व अध्यक्षता जिला विद्यालय निरीक्षक गजेन्द्र कुमार ने की
इस अवसर पर प्रधानाचार्य ललित मोहन गुप्ता, संजय भटनागर, जितेन्द्र कुमार, विनय यादव, उमा रानी, विपिन त्यागी, सुचित्रा सैनी, भूपेन्द्र कुमार, अनुराधा पंवार, अभिषेक गर्ग, सतेन्द्र कुमार, अवनीश कुमार धीमान आदि आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।