प्रोजेक्ट अलंकार योजना के अंतर्गत माध्यमिक शिक्षा विभाग के तत्वाधान में कार्यक्रम आयोजित

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। माध्यमिक शिक्षा विभाग के निर्देशन  में प्रोजेक्ट अलंकार योजना के अंतर्गत डीएवी इण्टर कॉलेज में आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए सयुंक्त शिक्षा निदेशक राणा सहस्त्रांशु कुमार सुमन ने कहा कि यह उत्तर प्रदेश सरकार की अनुपम योजना है 

सयुंक्त शिक्षा निदेशक ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा स्कूलों की स्थिति को बेहतर करने के लिए करोङो  की लागत से प्रदेश में अलंकार योजना शुरू की गई है। उन्होंने कहा कि योजना में पहली प्राथमिकता जर्जर इमारतों को हटाने की है, जिससे हादसों की आशंकाओं को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि जिन स्कूलों की इमारत फिलहाल बेहतर स्थिति में है, वहां सुविधाएं बढ़ाने पर जोर दिया जाएगा। उन्होंने अधिक से अधिक प्रबन्ध समिति को योजना का लाभ लेने के लिए प्रेरित किया। 

जिला विद्यालय निरीक्षक गजेन्द्र कुमार ने कहा कि शिक्षा में सुधार को लेकर शासन के द्वारा महत्वपूर्ण कदम उठाया जा रहा है, जिससे सरकारी स्कूलों की दशा तो सुधरेगी इसके अलावा शिक्षा के स्तर में गुणबत्ता आएंगी। उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूलों में प्राइवेट स्कूलों जैसी सुविधाएं न होने से बच्चों के पेरेंट्स का मोह भंग होने लगा है, लेकिन शासन के द्वारा इस प्रोजेक्ट से अब सरकारी स्कूलों में प्राइवेट स्कूलों जैसी सुविधा मिलनी शुरू हो जायेगी। उन्होंने कहा कि प्रोजेक्ट अलंकार' के तहत चिह्नित विद्यालयों के जर्जर भवनों को हालत को सुधार कर उन्हें आधुनिक सुविधाओं से लैस किया जायेगा।

प्रधानाचार्य डॉ विकास कुमार ने बताया कि जनपद में में 51 विद्यालयों को चिन्हित किया गया गया है, जिनकी मान्यता को 50 से अधिक वर्ष हो गए है, उनको अलंकार योजना के अंतर्गत अनुदान प्रबंध समिति के प्रस्ताव के उपरांत आसानी से प्राप्त हो जाएगा। सहायक वित्त एवं लेखाधिकारी अजय श्रीवास्तव ने योजना की विस्तृत जानकारी दी।

कार्यक्रम की अध्यक्षता सयुंक्त शिक्षा निदेशक राणा सहस्त्रांशु कुमार सुमन व संचालन प्रधानाचार्य डॉ विकास कुमार ने किया। इस अवसर पर प्रबन्धक अरविंद कुमार, महाराज बलदेव, अभिषेक वत्स, रजनीश कुमार, प्रधानाचार्य सोहन पाल, अनिल शर्मा, विजय शर्मा, विनीत कुमार, नरेश कुमार, सुधीर त्यागी, संत कुमार आदि उपस्थित रहे।