बात

डॉ. अ कीर्तिवर्ध, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र।

बात हास्य से चले, 
गम्भीर होने लगे,
दिल दुखाए, 
नयन जब भिगोने लगे।
बात आगे बढ़े,  
विवाद का कारण बने,
विषय बदलो, 
बात नश्तर चुभोने लगे।
हो सके तो 
उस जगह को छोड़ दो,
कुछ समय के लिए 
वहीं सब छोड़ दो।
दोस्त हों या रिश्ते नाते, 
दुरियां बना लो,
समझने के लिए, 
कुछ समय छोड़ दो।
मुजफ्फरनगर, उत्तर प्रदेश।