कचहरी परिसर में राष्ट्रीय लोक अदालत आयोजित
शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। कचहरी परिसर में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत का शुभारम्भ आज जिला जज राजीव शर्मा द्वारा किया गया। कोविड 19 के कारण न्यायिक प्रागंण में स्टाल नहीं लगाये गये, अदालतों में वाद निस्तारण की कार्यवाही चलती रही। बैंकों ने भी वादो का निस्तारण किया। राष्ट्रीय लोक अदालत के नोडल अधिकारी अपर जिला जज शक्ति सिंह ने बताया कि इस लोक अदालत के लिए पिछले दो माह से तैयारियां चल रही थी। अकेले तीस हजार मामले पूरी राष्ट्रीय लोक अदालत में निस्तारण के लिए लगाये गये है, जिनमें से पन्द्रह हजार मामले बैंकों से संबंधित है। उन्होंने बताया कि हजारों की संख्या में वादकारी अपने-अपने केसों के निस्तारण के लिए आये। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में सुलह सफाई समझौते के आधार पर मुकदमों का निस्तारण होता है और इनकी फिर अपील नहीं होती, वाद हमेशा के लिए समाप्त हो जाते है।
राष्ट्रीय लोक अदालत की सचिव सलोनी रस्तौगी ने बताया कि इस बार राष्ट्रीय लोक अदालत में राजस्व वसूली, बैंक, बीएसएनएल, परिवार न्यायालय, मोटर दुर्घटना से संबंधित केस लगाये गये है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत स्व. महात्माा गांधी की विचारधारा को पूर्ण करती है, जिसमें न किसी की हार होती है और न किसी की जीत, अपितु सुलह सफाई के आधार पर दोनों पक्षों के बीच समझौता करा दिया जाता है और वे प्रसन्नतापूर्वक अपने अपने घरों की ओर जाते है। उन्होंने कहा कि इसमे समय और धन दोनों की बचत होती है।