बोझ
अ कीर्ति वर्द्धन, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। अहंकार का बोझ जब, सिर पर चढने लगा, आदमी को आदमी तब, कीडे सा लगने लगा| ढोने लगा वह बोझ अपना, अपने कांधो पर यहाँ, आदमी से आदमियत का, अहसास भी घटने लगा| मुजफ्फरनगर, उत्तरप्रदेश