भारत सरकार ने लिया जिला स्तर पर 1000 खेलो इण्डिया सेण्टर स्थापित किये जाने का निर्णय, खेलो को मजबूत करने के लिए भूतपूर्व खेल चैम्पियनों को लगाये जाने की योजना


शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। जिला क्रीडाधिकारी ने बताया कि खेल मंत्रालय भारत सरकार द्वारा जिला स्तर पर 1000 खेलो इण्डिया सेण्टर स्थापित किये जाने का निर्णय लिया है। इन केन्द्रो में खिलाडियों के जमीनी स्तर के प्रशिक्षण/खेलो को मजबूत करने के लिए भूतपूर्व खेल चैम्पियनों को लगाये जाने की योजना है। इस योजना के अन्तर्गत खेलों इण्डिया केन्द्र पर तीरंदाजी, एथलेटिक्स, मुक्केबाजी, बैडमिन्टन, साइकिलिंग, तलवारबाजी, हाकी, जूडो, रोइंग, शूटिंग, तैराकी, टेबल टेनिस, भारोत्तोलन, कुश्ती सहित ओलम्पिक में पहवान वाले 14 खेलों में प्रशिक्षण दिया जायेगा।
जिला क्रीडाधिकारी ने बताया कि भूतपूर्व चैम्पियन की चार श्रेणियां बनायी गयी है।  ऐसे भूतपूर्व चैम्पियन जिन्होंने मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय खेल संघो के तहत मान्यता प्राप्त अन्तर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताअें में भारत का प्रतिनिधित्व किया हो। दुसरे मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय खेल संघों द्वारा आयोजित सीनियर नेशनल चैम्पियनशिप/खेलों इण्डिया गेम्स में पदक विजेता रहे हो, ऐसे भूतपूर्व चैम्पियन जिन्होंने अखिल भारतीय विश्वविद्यालय खेलों में पदक विजेता रहे हो तथा मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय खेल संघों द्वारा आयोजित सीनियर नेशनल चैम्पियनशिप/खेलो इण्डिया गेम्स में प्रतिभाग किया हो।
जिला क्रीडाधिकारी ने बताया कि तीरंदाजी, एथलेटिक्स, मुक्केबाजी, बैडमिन्टन, साइकिलिंग, तलवारबाजी, हाकी, जूडो, रोइंग, शूटिंग, तैराकी, टेबल टेनिस, भारोत्तोलन, कुश्ती सहित 14 खेलों में भारतीय खेल प्राधिकरण द्वारा संचालित किये जाने वाले सेन्टर में प्रशिक्षण दिये जाने के इच्छुक भूतपूर्व चैम्पियन जो निर्धारित मानकों/श्रेणी के केवल भूतपूर्व चैम्पियन सुस्पष्ट प्रस्ताव/आदेवन जिला खेल कार्यालय, मुजफ्फरनगर में दिनांक 18 अगस्त, 2020 की अपरान्ह 12-00 बजे तक उपलब्ध करा सकते है।