मेरे जीवनसाथी! तुम हो तो मैं हूं (पत्नी का पति को जन्मदिन का शुभकामना संदेश)


डा.मिली भाटिया (आर्टिस्ट), शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। 


जीवनसाथी आनंद(आनी)!
तुम्हें प्रिय नहीं लिखूँगी, क्योंकि तुम तो सबसे प्रिय हो मुझे। हैपी बर्थ-डे, तुम जीयो हजारों साल, साल के दिन हो पचास हजार। तुम्हें मेरी भी उमर लग जाए। हमारे विवाह को 10 साल हो चुके हैं और हमें मिले हुए 15 साल। वक्त तेजी से निकलता चला गया और हमारा प्यार बढ़ता चला गया। बेहद सहनशील, मुझे समझने वाले इंसान को अपना जीवनसाथी पाकर में धन्य हूँ। तुमने मुझे ऊँचाईयों को छूने में मेरा साथ दिया हमेशा। आज भी वो रात याद है मुझे, जब मैं माँ बनने वाली थी और मेरी पीएचडी की थीसीस जमा करने में केवल चार दिन बाकी थे। रात को मुझे नींद आने लगी, तुम और मैं शोध की फाइनल प्रूफरीडिंग कर रहे थे, मुझे नींद आ गई, सुबह सात बजे जब मेरी आँख खुली, तुम तब भी मेरे शोध की प्रूफ रीडिंग ही कर रहे थे। तुम्हारा साथ मुझे मेरी हर खुशी और हर गम में मिला है।



कहने को लव मैरिज है अपनी, पर प्यार से ज्यादा तुमने सम्मान मुझे दिया। तुम मेरी खुशी की वजह हो, तुम मेरी ताकत हो, तुम मेरा विश्वास हो। किसी कारण से मेरी प्रगनेंसी में जब आप हमसे रूठे हुए थे, तब भी तुमने मेरा साथ नही छोड़ा। अपनी माँ को में जब 17 साल की ही थी, तभी खो चुकी थी, पर इस वक्त तुमने मेरी माँ की तरह मेरी देखभाल की, अपना सब कुछ भूल कर। जनम-जनम का रिश्ता है तुमसे आनी। मेरी माँग में तुम्हारा सिंदूर हमेशा बना रहे, बस एक यही दुआ है ईश्वर से। तुम खूब तरक्की करो। हमारी इकलौती बिटिया लिली और तुम्हारी मिली (मानी) की तरफ से तुम्हें जनमदिन की ढेर सारी शुभकमनायें।
धन्यवाद 



हमेशा से तुम्हारी मिली (मानी)