आओ कुछ नया करें 

कमलेश चौहान, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र।

 

आओ कुछ नया करें

तुम अपने घर में 

हम अपने घर में 

प्रकृति का नया नियम निभाए

 

आओ कुछ नया करें। 

मिल बांट हाथों में, मेहंदी खूब रचाई 

इस बार चलो सेनिटाइज़र लगाए 

बहुत खरीदे सूट और लहँगे 

इस बार ज़रा नए नए मास्क मँगवाए 

 

आओ कुछ नया करें। 

मत याद कर चाऊमीन, मन्चूरियन 

कोल्ड ड्रिंक और आइसक्रीम 

चल अब काढ़ा पीकर मन बहलाए 

 

आओ कुछ नया करें। 

बहुत घूमे साल दर साल 

आओ इस बार कौरिनटीन में दिन बिताएँ

आओ कुछ नया करें।

 

कोटखाई (शिमला) हिमाचल प्रदेश