पिस्टल छीनकर पुलिस कस्टडी से भाग रहे हत्यारोपी पैर में तीन गोलियां लगने से घायल



शि.वा.ब्यूरो, मेरठ। लुधियाना की छात्रा से धोखे सा शादी करके गैंगरेप के बाद हत्या के आरोपी तांत्रिक शाकेब ने दुस्साहस करते हुए पुलिस कस्टडी में सिपाही की पिस्टल छीनकर सिपाही को गोली मार दी। पुलिस कस्टडी से भाग रहे हत्यारोपी शाकेब के भी मुठभेड़ के दौरान दोनों पैरों में तीन गोलियां लगी। ये मुठभेड़ उस समय हुई, जब छात्रा की खोपड़ी बरामद कराने के लिए पुलिस हत्यारोपी को जंगल में ले गयी थी।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय साहनी ने पत्रकारवार्ता में बताया कि दौराला क्षेत्र निवासी शाकिब नाम का युवक लुधियाना में तांत्रिक की दुकान चलाता था। शाकिब ने अपना नाम अमन बता कर लुधियाना में रहने वाली एकता नाम की 19 वर्षीय युवती को अपने प्रेम जाल में फंसा लिया। एक साल पहले आरोपी की बातों में आकर एकता अपने घर से 15 तोले सोने के जेवर और हजारों की नकदी लेकर उसके साथ मेरठ चली आई, लेकिन जैसे ही एकता को उसके शाकिब नाम होने का पता चला तो एकता ने विरोध किया। जिसके चलते कुछ दिनों बाद शाकिब और उसके परिजनों ने गला काटकर एकता की हत्या कर दी थी। इसके बाद पहचान छिपाने के उद्देश्य से आरोपियों ने एकता के हाथ और गला काटकर उसके शव को दौराला स्थित एक खेत में फेंक दिया। शव बरामद होने के बाद से पुलिस इस शव की शिनाख्त के प्रयास में जुटी थी। पुलिस मामले की जांच पड़ताल करते हुए लुधियाना में एकता के परिजनों तक पहुंच गई थी। पुलिस टीम को यह जानकर हैरत हुई कि एकता के परिजनों को उसकी हत्या की भनक तक नहीं थी। पुलिस के अनुसार हत्या के बाद से शाकिब व्हाट्सएप पर एकता की डीपी बदल-बदल कर लगातार उसके परिजनों से एकता बनकर संपर्क में था। मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने मुख्य आरोपी शाकिब सहित हत्या में उसका साथ देने वाली उसके परिवार की दो महिलाओं और तीन अन्य पुरुषों को गिरफ्तार कर लिया।
आज पुलिस लाइन में इस कांड के खुलासे के लिए आयोजित पत्रकार वार्ता में आरोपियों को सामने देखते ही मृतका के परिजनों का गुस्सा फूट पड़ा। मृतका के परिजनों ने पुलिस के सामने ही आरोपी महिलाओं और पुरुषों की लात-घूंसो से जमकर पिटाई की। पुलिस जैसे-तैसे आरोपियों को छुड़ाकर जेल के लिए रवाना हुई। एसएसपी ने बताया इसी दौरान रास्ते में आरोपियों को मेडिकल के लिए ले जाते समय मुख्य आरोपी शाकिब ने एक कांस्टेबल की पिस्टल छीनकर फरार होने का प्रयास किया। शाकिब द्वारा की गई फायरिंग में कांस्टेबल मामूली रूप से घायल हो गया। मुठभेड़ में आरोपी के पैर में तीन गोलियां लगी हैं।