महिला कांस्टेबल शैली बंसल को कोरोना योद्धा का सम्मान व सहायता प्रदान करने की मांग


शि.वा.ब्यूरो, खतौली। गुर्जर सद्भावना महासभा ने एसडीएम को ज्ञापन देकर पूर्वी दिल्ली में ड्यूटी पर तैनात असामयिक मृत्यु को प्राप्त हुई महिला कांस्टेबल शैली बंसल को कोरोना योद्धा मानकर सहायता व सम्मान प्रदान करने की मांग की गयी।
दिल्ली के उपराज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन उपजिलाधिकारी को सौंपते हुए गुर्जर सद्भावना महासभा के पदाधिकारियों ने कहा है कि ग्राम कुलेसरा की गरीब पृष्ठभूमि की महिला कांस्टेबल शैली बंसल पूर्वी दिल्ली स्थित नंदनगरी थाने में कोरोना महामारी के दौरान ड्यूटी पर तैनात थी, 2 मई 2020 को ड्यूटी के दौरान इन्हें बुखार आया तथा कोरोना के लक्षणों के साथ इनका स्वास्थ्य खराब हो गया, जिसके कारण दिनांक 24 मई 2020 को नोएडा स्थित जेपी अस्पताल में 23 वर्ष की अल्पायु में इनकी मृत्यु हो गई थी। शैली बंसल के साथ ही 3 अन्य कॉन्स्टेबल और भर्ती हुए थे, जिनकी रिपोर्ट में कोरोना पोजिटिव आयी है। ज्ञापन में कहा गया है कि अस्पताल से हुई वार्ता अनुसार हॉस्पिटल ने माना है कि उन्हें साथ वालों अथवा पुलिस थाने द्वारा वस्तुस्थिति से अवगत नहीं कराया गया, इसलिए हमने इसे कोरोना से जोड़कर नहीं देखा।
गुर्जर सदभावना सभाने मांग की है कि आईसीएमआर के निर्देशानुसार कोरोना महामारी में तैनात फ्रंट लाइन कोरोना वारियर कॉन्स्टेबल शैली बंसल को कोरोना योद्धा की तरह सम्मान एवं पीड़ित परिवार को अन्य सहायता दिलाने हेतु आवश्यक कार्यवाही करने का कष्ट करें।
ज्ञापन सौंपने वालों में चैधरी रामपाल सिंह, राजबीर सिंह एडवोकेट, सचिन खारी, सचिन पटेल, शशि छोकर, पाइलेट राणा, सोनू प्रधान पाल व मोहित नागर आदि शामिल रहे।