मनरेगा घोटाले में BDO सहित 7 के खिलाफ FIR, एपीओ, तकनीकी सहायक, रोजगार सेवक की संविदा सेवा समाप्त 





शि.वा.ब्यूरो, मऊ। जनपद के रानीपुर ब्लाक स्थित कमरवां गांव में विकास कार्यों में घोटाले का मामला प्रकाश में आया है। यहाँ  पिच रोड और सीसीरोड का सेलिंग कार्य, खेतों का समतलीकरण कार्य़ सहित 15 विकास कार्य में घोटाला किया गया है। इस मामलें में जिलाधिकारी के आदेश पर खण्ड़ विकास अधिकारी सहित 7 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गयी है।

बता दें कि कमरवां गांव में ग्राम सभा पिच रोड और सीसीरोड का सेलिंग कार्य और खेतों का समतलीकरण आदि विकास कार्य के लिए धन आवंटित किया गया था, लेकिन इस धन का ग्राम प्रधान, बीडीओ सहित 7 लोगों ने मिल कर बंदरबाट कर दिया।शिकायत मिलने पर जिलाधिकारी को जांच में घोटाले का मामला सत्य मिला, इसके बाद बीडीओ हरिवंश प्रसाद, विनय सिहं, जयश कुमार सिहं, एपीओ परवेज आलम, तकनीकी सहायक मनरेगा, रोजगार सेवक पर एफआईआर दर्ज करने की कार्य़वाही की गयी है। इसके अलावा ग्राम प्रधान के निलंबित करने की कार्य़वाही की जायेगी। जिलाधिकारी ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी ने बताया कि जांच के बाद मामला सत्य मिला है। इसके बाद एफआईआर करने के साथ ही निलंबन और सेवा समाप्ति तक की कार्यवाही की जायेगी। इसके लिए शासन को पत्र भेजा गया है।