बदलाव की ट्रेन में सवार हुआ उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन निगम, लिए कई फैसले 


शि.वा.ब्यूरो, लखनऊ। अब रोड़वेज ने परिवर्तन की दिशा में तेजी कदम बढ़ाते हुए उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन निगम की सेवाओं और कर्मचारियों को स्मार्ट बनाने में जुट गया है। इसके लिए रोडवेज बसों में चालकों-परिचालकों द्वारा चप्पल पहनकर ड्यूटी करने की प्रथा को खत्म किया जायेगा। इसके साथ ही अपने चालकों-परिचालकों को स्मार्ट बनाने के लिए यूपीएसआरटीसी 50 हजार संविदा व नियमित कर्मियों को अब वर्दी के साथ -साथ एक जोड़ी जूता देने की तैयारी की तैयारी कर रहा है।
परिवहन निगम के एमडी डा.राजशेखर के निर्देश मुख्यालय पर तीन सदस्यीय कमेटी गठित कर दी गयी है, जो एक सप्ताह के अंदर अपना फैसला देगी। इसके साथ ही बस में बैठते ही हाय-तौबा मचाने वालो को बडा झटका लग सकता है। परिवहन निगम ने ऐलान किया है कि 22 सवारी होने तक बस नहीं चलेगी। अब यात्रियों को बस चलने के लिए निर्धारित सवारियां होने तक इंतजार करना ही होगा। निगम ने यह फैसला इसलिए लिया है क्योंकि कोरोना संक्रमण के चलते सर्तकता बरत रहे लोगों के कारण बसों में सवारियों का टोटा है और निगम को भारी घाटा झेलना पड रहा है। इन्हींे सबके चलते  उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन निगम बदलाव के ट्रेन में सवार हो गया है।