शिक्षक का सौभाग्य


डाॅ दशरथ मसानिया,  शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र।


मेरा सौभाग्य है कि
मेरा चयन
शिक्षक के पद पर हुआ
अवसर मिला है मुझे
देश के बाल नागरिकों को गढ़ने का, 
राष्ट्र के लिए
सौभाग्य हैं मेरा 
मैं हिस्सा बनूंगा 
उस राष्ट्र निर्माण का
 विश्वास का
परम्परा का
समृद्धि का
प्रगति का 
जो राष्ट्र विकास में सहायक हैं
मुझे याद है
चाणक्य का संकल्प 
विश्वामित्र की गहराई 
सांदीपनि का स्नेह 
गुरू द्रोण का विश्वास 
गुरू देव का जनगणमन 
और मौलाना का शिक्षा उपहार 
जो राष्ट्र के निर्माण का आधार है 


आगर (मालवा) मध्य प्रदेश