लॉकडाउन में खाने की समस्या से जूझ रहे गरीबों के लिए घर घर जाकर बाट रहे राशन

शि.वा.ब्यूरो, खतौली। मुश्किल वक्त में गरीबों के लिए मसीहा बनकर सामाजिक संगठनों से जुड़े लोग सामने आए हैं, जिन्होंने कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से लॉकडाउन में खाने की समस्या के जूझ रहे गरीबों के लिए घर-घर जाकर राशन का इंतजाम करने में अहम योगदान दिया है। कुछ युवा पीपुल्स एलायंस का एक ग्रुप बनाकर ये नेक कार्य कर रहे हैं।

यह लोग कोविड-19 के कारण हुए लॉकडाउन के इस नाज़ुक वक्त में गरीब, मज़दूर और जरूरतमंदों को लगातार 50 दिनों से राहत, खाद्य सामग्री और अन्य आवश्यक वस्तुओं का वितरण करने का कार्य कर रहे हैं।जिन्होंने अब तक करीब 2 हजार से भी ज्यादा राशन किट बनाकर वितरण कर दी है।

कार्यकर्ताओ ने बताया कि रमज़ान माह को देखते हुए रोजेदारों के लिए रमज़ान किट का भी वितरण किया जा रहा है। पीपुल्स एलायन्स ने अन्य सामाजिक लोगों को साथ में लेकर जागरूकता अभियान भी चलाया है। साथ ही जो लोग खतौली से बाहर फंसे हुए हैं उनके परिवार को भी मदद दी जा रही है। अनुरोध भी किया जा रहा है कि इस मुश्किल वक़्त में सब्र के साथ इस महामारी से लड़ने मेें देश कि मदद करें।घरों में रहे घरों से बाहर नही निकले। समाजसेवी रविश आलम व परवेज गाजी ने कहा कि लॉकडाउन  दिहाडी मज़दूर, रेहड़ी व रिक्शा चालक के साथ-साथ मध्यम वर्गीय परिवारों के लिए भी संकट का विषय बन गया है। ऐसे में हम कुछ दोस्तों ने एक मुहीम शुरू की जिसके तहत अपने खर्चे से ज़रूरतमन्द लोगों तक बिना जाति-धर्म देखे मदद पहुंचाने का काम शुरू किया जो कि पिछले 50 दिनों से लगातार जारी है। हमारा मक़सद है कि हमारे शहर में कोई भूखा न सोए। सिर्फ़ इतना ही नहीं बल्कि पशु-पक्षियों के लिए भी लगातार दाने-खाने और पानी का इंतज़ाम किया जा रहा है। खतौली प्रशासन भी इस नेक काम में हमारी टीम की जितनी सम्भव हो मदद कर रहा है।

राहत सामग्री पहुंचाने वालों में इंजिनीयर उस्मान, डा वक़ील सागर, डा अथर, प्रवेज़ गाज़ी, रविश आलम, सोनू फरीदी, सभासद असजद सैफी, ऐन इरफान, गौरव मौघा, डाक्टर नईम, अमान मिर्ज़ा, अजय उपाध्याय, आस फातमी, मौ. अली, अनीस अन्सारी, क़ारी ज़िया, सलमान हसन, अदनान क़ाज़ी, कामरान आदिल आदि प्रमुख हैं।