अपना दल (एस) ने गोविंदपुर-परसठ गांव के पीड़ितों को दिये एक लाख रुपए, न्याय दिलाने का आश्वासन भी दिया

शि.वा.ब्यूरो, लखनऊ। पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं अपना दल (एस) की राष्ट्रीय अध्यक्ष व मीरजापुर की सांसद अनुप्रिया पटेल के निर्देश पर विधानमंडल दल के नेता एवं वाराणसी के सेवापुरी से विधायक  नील रतन पटेल के नेतृत्व में अपना दल (एस) के एक प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार को प्रतापगढ़ के गोविंदपुर-परसठ गांव के पीड़ितों से मुलाकात कर उन्हें एक लाख की नगद सहायता राशि सौंपी। हालांकि स्थानीय प्रशासन लॉकडाउन का हवाला देते हुए मिलने की अनुमति नहीं दे रहा था, लेकिन पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष श्री आशीष पटेल ने प्रदेश के वरिष्ठ अधिकारियों से बात की। लखनऊ से वरिष्ठ अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद स्थानीय जिला प्रशासन ने देर शाम मिलने की अनुमति दी। 


प्रतिनिधिमंडल में विधायक नील रतन पटेल के अलावा पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं प्रयागराज के सोरांव से विधायक डॉ.जमुना प्रसाद सरोज, पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं उत्तर प्रदेश पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्य जवाहर पटेल, उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सदस्य राजेंद्र प्रसाद पाल, स्थानीय जिलाध्यक्ष जीतलाल पटेल, दीपू सिंह, स्थानीय ब्लॉक प्रमुख कंचन पटेल के पति एवं अपना दल एस के नेता कुलदीप पटेल सहित पार्टी के कई वरिष्ठ पदाधिकारियों ने पीड़ित परिवारों से मुलाकात की और उन्हें न्याय दिलाने का आश्वासन दिया। प्रतिनिधिमंडल ने पीड़ितों को घायलों के इलाज के लिए एक लाख रुपए की नगद धनराशि दी। 


पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजेश पटेल का कहना है कि प्रतापगढ़ के गोविंदपुर-परसठ गांव की घटना की जितनी निंदा की जाए कम है। दबंगों ने पिछड़ी जाति के किसानों के घर जला दिए, उनके ऊपर हमला किया, कई लोग बुरी तरह से घायल हैं। कई बेजुबां जानवरों को जला दिया गया। इस मामले में घटना के दिन से ही पार्टी का शीर्ष नेतृत्व गंभीर है। पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं अपना दल (एस) की राष्ट्रीय अध्यक्ष व सांसद अनुप्रिया पटेल ने कई बार वरिष्ठ अधिकारियों से इस मामले में बात कीं है। पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष आशीष पटेल ने निंदा करते हुए पुलिस की भूमिका पर भी सवाल खड़ा किया एवं निष्पक्ष कार्यवाही की मांग की।