वर्दी में भगवान

राज शर्मा, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र।

 

है माटी का प्रभाव यहां कहते हिंदुस्तान जिसे

कभी देश के सिपाही देश को बचाने निकले।।

 

आई महामारी तो ये वैद्य वर्दी में भगवान दिखे

बात सरहद पर की हो महाराणा प्रताप दिखे ।।

 

चहुं ओर कोहराम आज खौफ महामारी का।

मानव देहली में बंधा किह विधि होवे उपचार।।

 

काल के कपाल में थप्पड़ जड़े वैद्य एक से एक।

कोरोना को हराऐंगे तब जाएगा विष घुटने टेक।।

 

अचंभित जन सब निराश मन कैसे हो उपाय।

तब जंग में सब वैद्य खड़े विष न फैलने पाय।।

 

मन्दिर मस्जिद बन्द हुए सील खौफ देश विदेश।

तब वैद्य आए ईश रूप में करने चले कुछ विशेष।।

 

संस्कृति संरक्षक, आनी (कुल्लू) हिमाचल प्रदेश