सीएम ने सांसदों से 15 अप्रैल को लाॅकडाउन खत्म होने के बाद भीड़ को सड़कों पर न आने देने में सहयोग मांगा



शि.वा.ब्यूरो, लखनऊ। सीएम योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के सांसदों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान कहा कि देश में 132 मामले केवल तबलीगी जमात के कारण ही पाॅजीटिव चिन्हित किये गये हैं। उन्होंने बताया कि 1499 तबलीगी जमात से जुड़े लोगों को चिन्हित किया जा चुका है। सीएम ने कहा कि प्रदेश में 3 दिन में सबसे ज्यादा कोरोना मामले बढ़े हैं। 
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में लॉकडाउन की कार्यवाही को सफल बनाने के लिए हमने सभी कदम उठाए है, जिसके चलते प्रदेश में अभी तक 275 कोरोना के केस सामने आये हैं। उन्होंने कहा कि बाहर से आए लोगों की वजह से स्थिति संवेदनशील हुई है, इन लोगों ने अव्यवस्था और अराजकता फैलाने का प्रयास किया था। हम इनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही भी कर रहे हैं। सभी चिन्हित को क्वॉरेंटाइन किया गया है। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के साथ ही हमने सभी लोगों की सुविधा के लिए 11 कमेटियां भी गठित की थी।



मुख्यमंत्री ने बताया कि पीएम मोदी के साथ सामंजस्य बिठाने के लिए कृषि उत्पादन आयुक्त की अध्यक्षता में हमने कृषि कार्यों के लिए कमेटी गठित की है। अपर मुख्य सचिव गृह की अध्यक्षता में लॉक डाउन के लिए कमेटी काम कर रही है। कालाबाजारी और जमाखोरी को रोकने के लिए भी यह कमेटी काम कर रही है। उन्होंने बताया कि प्रमुख सचिव स्वास्थ्य की अध्यक्षता में इलाज से लेकर बचाव उपकरण उपलब्ध कराने तक कमेटी काम कर रही है। इसके साथ ही डीजीपी के अध्यक्षता में कमेटी सभी प्रकार के फोर्स की सुरक्षा और निर्देश देने के लिए काम कर रही है।
मुख्यमंत्री ने बताया कि 20 लाख से अधिक रजिस्टर्ड श्रमिकों को  1000 का भरण पोषण भत्ता इनके बैंक खाते में दिया गया है। मनरेगा मजदूरों के लिए 871ध्. करोड़ सीधे उनके खाते में भेजे गए है। उन्होंने बताया कि हमने निर्देश दिया है किसी भी कर्मी का वेतन ना रोका जाए। सीएम ने कहा कि लॉकडाउन की कार्रवाई सभी के सुरक्षित भविष्य के लिए महत्वपूर्ण है, लॉकडाउन सभी की सुरक्षा उनके परिवार की सुरक्षा के लिए है यह लोग समझ रहे हैं। उन्होंने कहा कि तबलीगी जमात की अगर यह चीजें सामने नहीं आती तो अब तक हम यूपी में संक्रमण को रोकने में सफल हो गए थे। उन्होंने आह्नान किया कि 15 अप्रैल के बाद भारी भीड़ सड़कों पर ना आने पाए इस पर काम करना होगा।