राजकीय महाविद्यालय ने ऑनलाइन मनाया पृथ्वी दिवस




शि.वा.ब्यूरो, प्रयागराज। दीन दयाल उपाध्याय राजकीय महाविद्यालय सैदाबाद के जंतु विज्ञान विभाग द्वारा  विश्व पृथ्वी दिवस का ऑनलाइन आयोजन  किया गया। महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो0 आशीष जोशी ने  जूम ऐप के माध्यम से इस ऑनलाइन समारोह में उपस्थित सभी छात्र-छात्राओं, अभिभावकों तथा प्राध्यापकों का स्वागत किया और पृथ्वी दिवस के आयोजन की उपादेयता पर प्रकाश डाला। साथ ही कोरोना वायरस से बचने की अपील करते हुए कहा कि सरकार द्वारा घोषित लॉक डाउन का सभी लोग पालन करें, कोई अनावश्यक घर से बाहर ना निकले, एक दूसरे से  पर्याप्त दूरी बनाए रखें,  बारंबार साबुन से हाथ धुलते रहे।


 

इसके पश्चात मुख्य वक्ता भारतीय वानस्पतिक सर्वेक्षण के प्रमुख वैज्ञानिक डॉ0 शिवकुमार ने बताया कि कोविड 19 कोरोना वायरस जो संपूर्ण पृथ्वी वासियों के लिए प्राणघातक बना हुआ है, जिसकी वजह से पृथ्वी पर जीवन संकट में है। इस वर्तमान वैश्विक संकट में कोरोना से कैसे सुरक्षित रहे इस पर विस्तार से बताया। गोष्ठी के आयोजक जंतु विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डॉ. एके वर्मा ने बताया कि इस वैश्विक महामारी ने यह स्पष्ट कर दिया है कि मानव अन्य जैव प्रजातियों की तरह प्रकृति का एक घटक मात्र है। मनुष्य को प्रकृति का निर्माता-निर्देशक नहीं समझना चाहिए। मनुष्य चूकि इस सृष्टि का सर्वाधिक बुद्धिमान प्राणी है, इसलिए उसे सभी जीवधारियों के साथ सहअस्तित्व की भावना के साथ संतुलन बनाकर चलना चाहिए।


 

डॉ बृजेश मिश्रा ने बताया कि वैश्विक महामारी कोरोना ने पर्यावरण को स्वच्छ कर दिया है और सभी लोग स्वाभाविक तौर पर स्वस्थ हो गए है। डा0 अमिय कुमार ने बताया कि पर्यावरण को ध्यान में रखकर आज विकास का कार्य किया गया होता तो प्रकृति को ऐसे नियंत्रण करने की आवश्यकता नहीं होती। अतः आज लोगों को कोरोना जैसे महामारी से सीख कर आगे बढ़ने की आवश्यकता है। डॉ प्रज्ञा ने बताया की लाक डाउन का पूर्णतया पालन करने की आवश्यकता है। लोगों को आज की विषम परिस्थिति में लड़ कर कैसे आगे बढ़ना है, इस पर विचार करना होगा।


 

गोष्ठी में उपस्थित डॉ गरिमा व डॉ विशालाक्षी ने छात्र-छात्रा व उनके अभिभावकों कसे कोरोना वायरस से बचने की अपील की। अंत में  पृथ्वी को स्वच्छ  बनाने व प्रदूषण मुक्त करने  के प्रति  अपनी  वचनबद्धता  व्यक्त करते हुए  इस ऑनलाइन आयोजन  के समापन  की घोषणा की गई।  इस अवसर पर  उपस्थित  छात्र  छात्राएं  अभिभावक तथा  प्राध्यापक गण  सभी  विचारों से लाभान्वित हुए।