कैसे करें लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन पढ़ाई


आशीष Kr. उमराव "पटेल", शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र।



ऑनलाइन पढ़ाई के लिए सामान्यतः हमारे पास स्पीड इंटरनेट कनेक्शन, इनपुट डिवाइस, सॉफ्टवेयर या एप्प की जरुरत होती है। ऑनलाइन क्लासेज दो तरह से ली जा सकती हैँ, लाइव क्लासेज और रिकार्डेड क्लासेज। रिकार्डेड क्लास के लिए हमें कंप्यूटर या स्मार्ट एंड्रॉइड फ़ोन की जरुरत होती है। लाइव क्लासेज के लिए आपको स्काइप, ज़ूम, विज आई क्यू, टीम सेट आदि सॉफ्टवेयर या एप्प की अव्यश्कता होती है, जिसके थ्रू आप दिए गए टाइम पर ऑनलाइन क्लास और इंटरैक्शन कर सकते हैँ, जो पेड या फ्री दोनों ही तरह से अवेलेबल होता है। रिकार्डेड क्लासेज के लिए दिए गए टॉपिक पर आप यूट्यूब या व्हाट्सएप्प के थ्रू वीडियो प्राप्त कर सकते हैँ। ये भी पेड और फ्री दोनों ही तरह से उपलब्ध हैं। पेड में आपको सभी टॉपिक की कम्पलीट वीडियो सीरीज उपलब्ध हो जाती है, जबकि फ्री में कुछ सिलेक्टेड टॉपिक या वीडियो ही उपलब्ध हो पाते हैँ।
कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरों को देखते हुए सरकार ने फिलहाल 3 मई तक का लॉकडाउन किया है। ऐसे में बीजू समेत कई ऐप ऐसे हैं, जिनके जरिये आप अपनी पढ़ाई जारी रख सकते हैं। अगर आप किसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, तो आपके लिए ये सही समय है कि आप ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरह की पढ़ाई के लिए सही समय निकालें।


ऐसे प्लान करें अपना टाइम टेबल


गुरु द्रोणाचार्य के निदेशक एवं ऐकडेमिक & कैरियर मेंटोर आशीष Kr.उमराव पटेल कहते हैं कि आप चाहें तो इस लॉकडाउन को अच्छे से प्लान करके इस समय का सही उपयोग कर सकते हैं. आशीष उमराव का कहना है कि आप कुछ इस तरह अपने दिन को प्लान कर सकते हैं।


जल्दी उठना


सबसे पहले आप रूटीन को पहले की तरह रखें और सुबह जल्दी उठने की आदत जरूर बनाएं। सुबह सूर्योदय देखने से आप पूरे दिन के लिए सकारात्मक ऊर्जा से भरे रहते हैं। इसी समय अपने पूरे दिन के लिए प्लानिंग करें।


एक्सरसाइज


सुबह की दिनचर्या में व्यायाम को जरूर शामिल करें, क्योंकि इस दौरान जब आप घर में रहते हैं तो फिजिकल एक्‍ट‍िविटी कम हो जाती हैं।


बैलेंस्ड डाइट


इस दौरान अपने खानपान को संतुल‍ित रखें। कोश‍िश करें कि हेल्दी खाएं और जंक फूड से बचें। ऐसा खाएं, जिससे आप हाइड्रेटेड रहें। इसलिए पेय या तरल पदार्थ का सेवन ज्यादा करें।


पढ़ाई का समय निश्च‍ित करें


आप दिन में कंप्यूटर या ऑनलाइन पढ़ाई का समय निश्‍च‍ित करें। इसके बाद का बचा समय अपने शौक पेंटिंग, हस्तकला या किसी खेल आदि को दें। परिवार के साथ समय जरूर बिताएं। अकेले रह रहे हैं तो दोस्तों या परिवार से संपर्क करें।


डायरेक्टर गुरु द्रोणाचार्य आईआईटी-जेईई, नीट & डिफेन्स (NDA & CDS) अकादमी, फाउंडर-डॉक्टर्स अकादमी अखिल भारतीय कुर्मी क्षत्रिय महासभा सहारनपुर मंडल