डायट प्राचार्य भीम सिंह ने निष्ठा प्रशिक्षण के महत्व पर प्रकाश डाला


शि.वा.ब्यूरो, खतौली। परिषदीय स्कूलों में शिक्षा गुणवत्ता बढ़ाने के उद्देश्य से भारत सरकार द्वारा चलाये जा रहे निष्ठा प्रशिक्षण कार्यक्रम का डायट प्राचार्य भीमसिंह व डायट के वरिष्ठ प्रवक्ता अलताफ ने निरीक्षण किया। इस अवसर पर दो अधिकारियों ने अध्यापको को प्रशिक्षण के महत्व के बारे में विस्तार से बताया। 
डायट प्राचार्य भीमसिंह ने प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे शिक्षकों को बताया कि निष्ठा प्रशिक्षण शिक्षकों की उपयोगिता और अधिक बढ़ाने के लिए जरूरी है। उन्होंने कहा इससे शिक्षकों को पढ़ाने की नई तकनीक का ज्ञान होगा और बच्चों को अच्छी तरह से गुणवत्ता परक शिक्षा देने में कामयाब हो पायेंगे, जिससे सरकारी स्कूलों में शिक्षा का स्तर सुधरेगा। डायट के वरिष्ठ प्रवक्ता अल्ताफ ने निष्ठा प्रशिक्षण की आवश्यकता व महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि इस प्रशिक्षण में सभी को सकारात्मक रूप से प्रतिभाग करके इसके लाभ को ग्रहण करना चाहिए। 



इस अवसर पर खण्ड़ शिक्षा अधिकारी  अलका अग्रवाल, विकान्त कुमार, सूरज कुमार, पूनम रानी, पायल, रीमा मलिक, इकलेश, ओमपाल, उदयवीर लियाकत अली, नवीन, अनुपम, अरविंद, भावना व मेघा शर्मा आदि मुख्यरूप से मौजूद रहे।
ज्ञात हो कि भारत सरकार के द्वारा चलाये जा रहे निष्ठा प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत ब्लाॅक के 750 परिषदीय अध्यापको को प्रशिक्षित करने के लिए निकट गंग नहर के निकट स्थित बेम्बले स्कूल आयोजित किया गया है।