रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने पूरी नौचंदी ट्रेन को सहारनपुर से चलाने के आदेश दिए

शि.वा.ब्यूरो,  सहारनपुर। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने मेरठ से प्रयागराज के बीच चलने वाली संगम एक्सप्रेस को सहारनपुर तक बढ़ाने के यहां के लोगों को दिए अपने आश्वासन को पूरा करने के बजाए एक अक्टूबर से नौचंदी पूरी ट्रेन को ही सहारनपुर से चलाने के निर्देश दिए है। अभी तक नौचंदी एक्सप्रेस के चार डिब्बे सहारनपुर से मेरठ के बीच चलते थे और मेरठ में नौचंदी एक्सप्रेस में वे डिब्बे जुड़ जाते थे। अब पूरी ट्रेन मेरठ के बजाए सहारनपुर से ही चलेगी। 

नौचंदी ट्रेन प्रयागराज वाया लखनऊ चलती हैं जबकि संगम एक्सप्रेस कानपुर होते हुए प्रयागराज आती-जाती हैं। भाजपा आलाकमान ने एक वर्ष पूर्व रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव को सहारनपुर संसदीय क्षेत्र का प्रभारी नियुक्त किया था। उन्होंने अपने व्यवहार और कामकाज से यहां के लोगों का दिल जीता और रेलवे की कई सुविधाएं बढ़ाने का भी काम किया। उन्होंने आनंद विहार और देहरादून के बीच नई वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन चलाई। सहारनपुर के लोगों की मांग पर इस ट्रेन को वाया सहारनपुर चलाया गया। हालांकि उससे यात्रियों का समय अधिक लगता है और लोगों की मांग पर ही देवबंद में इसका स्टोपेज रखा गया। महंगे यात्रा टिकट होने के कारण देवबंद से इस ट्रेन में इक्का-दुक्का यात्री ही सफर करते हैं और इसका देवबंद को कोई खास लाभ नहीं हुआ। यह ट्रेन पुरानी दिल्ली या नई दिल्ली या फिर निजामुद्दीन जाने के बजाए आनंद विहार तक जाती है और वहीं से बनकर वापस भी लौटती है। इस ट्रेन के संचालन से जालंधर-नई दिल्ली के बीच चलने वाली ट्रेन कम से कम तीस मिनट का विलंब नई दिल्ली पहुंचने में होने लगा है। इस ट्रेन को दिल्ली जाने के दौरान काफी समय तक नागल और तल्हेड़ी बुजुर्ग स्टेशनों पर खड़ा कर दिया जाता है और वंदे भारत एक्सप्रेस को आनंद विहार जाने के दौरान पास किया जाता है। 

लोगों की मांग है कि यदि रेल मंत्री वास्तव में सहारनपुर क्षेत्र के रेल यात्रियों को सुविधाएं देने की मंशा रखते हैं तो वे वंदे भारत ट्रेन को आनंद विहार के बजाए नई दिल्ली तक बढ़ाएं। दूसरी ओर देवबंद निवासी भाजपा नेता रेलवे के जोनल उपभोक्ता समिति के सदस्य आदेश त्यागी ने रेल मंत्री को और रेलवे बोर्ड के चेयरमैन को भेजे अपने पत्र में मांग की है कि देहरादून और मुंबई के बीच चलने वाली एक्सप्रेस ट्रेन का स्टोपेज पूर्व की तरह देवबंद में किया जाए और जिन यात्री ट्रेनों को कोरोनाकाल में बंद कर दिया था उन सभी ट्रेनों को नियमित रूप से संचालित किया जाए। इन यात्री ट्रेनों के बंद हो जाने से ग्रामीण और कस्बाई क्षेत्र के रेलवे स्टेशनों का महत्व करीब-करीब खत्म हो गया है जबकि करोड़ों रूपयों का निवेश करके इन रेलवे स्टेशनों को अति आधुनिक बनाया गया है लेकिन वहां ट्रेनों का स्टोपेज नहीं होने के चलते लाखों यात्री परेशान हैं।

आदेश त्यागी ने रेल मंत्री का ध्यान इस ओर भी दिलाया है कि ऋषिकेश से कोच्चिवेली के बीच चलने वाली एक्सप्रेस ट्रेन का दिल्ली जाते समय देवबंद में स्टोपेज है लेकिन वापसी में यह ट्रेन देवबंद स्टेशन पर नहीं रूकती है। उन्होंने रेल मंत्री से मांग की है कि वापसी में भी इसका देवबंद रेलवे स्टेशन पर स्टोपज किए जाने के आदेश जारी किए जाए। उन्होंने मुंबई और अमृतसर के बीच चलने वाली महत्वपूर्ण एक्सप्रेस ट्रेन गोल्डन टेम्पल एक्सप्रेस का स्टोपेज भी देवबंद में किए जाने की जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि अमृतसर में स्वर्ण मंदिर स्थित है और मुंबई में हरमंदर साहिब मंदिर है। अगर इस ट्रेन को आते-जाते समय देवबंद में रोका जाता है तो इस क्षेत्र के हजारों सिख धर्म के अनुयायियों और पंजाबी समाज को भारी सुविधा हो जाएगी। जिस मकसद से भाजपा आलाकमान ने अश्विनी वैष्णव को सहारनपुर संसदीय क्षेत्र की जिम्मेदारी दी है, उसमें उन्हें तभी सफलता मिल सकती है, जब वे यहां की रेल संबंधी वास्तविक समस्याओं को जानेंगे और समझेंगे और उस पर विनम्रता पूर्व काम करेंगे।

बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव में मोदी लहर के बावजूद भाजपा ने सहारनपुर सीट खो दी थी और अभी भी कोई बहुत अच्छे हालात भाजपा के पक्ष में दिखाई नहीं देते हैं। रेल मंत्रालय द्वारा संगम एक्सप्रेस को सहारनपुर तक ना बढ़ाने और उसके बजाए नौचंदी एक्सप्रेस की पूरी ट्रेन को सहारनपुर से चलाने का जो काम किया है उससे लोग संतुष्ट नहीं हुए हैं। सहारनपुर दौरे के दौरान रेल मंत्री ने बताया था कि रेलवे स्टाफ का कहना है कि संगम एक्सप्रेस की सहारनपुर रेलवे स्टेशन पर सफाईधुलाई और मेंटीनेंश का प्रबंध नहीं है और इसे बहाना बनाते हुए संगम एक्सप्रेस को यहां तक नहीं बढ़ाया गया।लोगों का कहना है कि ऐसे में सवाल यह पैदा होता है कि नौचंदी पूरी ट्रेन की सहारनपुर में मेंटीनेंस और सफाई धुलाई कैसे संभव होगी। विपक्षी दलों ने रेल मंत्री पर सहारनपुर के लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाया है।

Comments
Popular posts
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय धरेच में आयोजित दश दिवसीय संस्कृत संभाषण शिविर सम्पन्न
Image
एडीएम वित्त ने मारा छापा, तहसील के क्वार्टर में सरकारी कामकाज करते पकड़ दो बाहरी व्यक्ति
Image
लेखपालों के पास कुछ प्राइवेट हेल्परों को कार्य करते हुए रंगे हाथ पकड़ा
Image
जिलाधिकारी मनीष बंसल ने किया कलेक्ट्रेट परिसर का निरीक्षण
Image
राजस्व परिषद के अध्यक्ष डॉ0 रजनीश दुबे ने किया कलैक्ट्रेट के विभिन्न पटलों, कंट्रोल रूम का निरीक्षण, राजस्व कार्यों की समीक्षा बैठक भी की, बन्दोबस्त अधिकारी चकबन्दी के पेशकार को निलम्बित करने के निर्देश
Image