एसडी कालेज ऑफ इन्जिनियरिंग एण्ड टैक्नोलोजी में चुनावो को समावेशी, सुलभ और सहभागी बनाना थीम पर कार्यक्रम आयोजित

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। एसडी कालेज फ इन्जिनियरिंग एण्ड टैक्नोलोजी में राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय मतदाता दिवस 2023 थीम चुनावो को समावेशी, सुलभ और सहभागी बनाना पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। राष्ट्रीय मतदाता दिवस 2023 थीम का लक्ष्य अधिक से अधिक लोगो को उनकी उम्र, लिंग, जातीय या अन्य विशेषताओं की परवाह किए बिना चुनाव मतदान करने के लिए प्रोत्साहित करना है, भारतीय चुनाव आयोग पूरी मतदान प्रक्रिया में मतदाता पहुंच को आसान बनाने और बेहतर बनाने के उपायों पर भी ध्यान केंद्रित करता है।

इस अवसर पर कालेज के निदेशक व प्राचार्य प्रो0 (डा0) प्रवीण पाण्डेय ने राष्ट्रीय मतदाता दिवस की उद्देशिका का वाचन किया तथा समस्त अध्यापकगण एवं अन्य कर्मचारीगण को राष्ट्रीय मतदान के प्रति सम्पूर्ण निष्ठा की शपथ दिलवाई। प्रो0 (डा0) प्रवीण पाण्डेय ने बताया कि हर साल 25 जनवरी को भारत में राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि यह दिन 1950 में भारत के चुनाव आयोग की स्थापना के दिन को चिन्हित करने के लिए मनाया जाता है। 
उन्होंने कहा कि देश की जनता के लिए मतदान सबसे महत्वपूर्ण मे से एक है, जो लोकतंत्र में प्रत्येक व्यक्ति के पास है। उन्होंने कहा कि वोट देने का अधिकार आम जनता को यह नियंत्रित करने में मदद करता है कि कौन शासन करेगा और आप देश में किस प्रकार की विकास एवं कल्याण योजनाऐं चाहते है। उन्होंने कहा कि अक्सर देखा जाता है कि लाखों लोग इलेक्शन के दौरान मतदान की जिम्मेदारी से कतराते है या उन कदमों से अनजान होते है, जिन्हे एक जागरूक नागरिक के रूप में उन्हे उठाने की आवश्यकता होती है। उन्होंने कहा कि इसे ठीक करने और लोगो को मतदान के लिए पंजीकरण करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए हर साल 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है।     
प्रो0 (डा0) प्रवीण पाण्डेय ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग का गठन भारतीय संविधान के लागू होने से 1 दिन पहले 25 जनवरी 1950 को हुआ था, क्योंकि 26 जनवरी 1950 को भारत एक गणतांत्रिक देश बनने वाला था और भारत में लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं से चुनाव कराने के लिए निर्वाचन आयोग का गठन जरूरी था। उन्होंने बताया कि भारत सरकार ने वर्ष 2011 से हर चुनाव मे लोगो की भागीदारी बढ़ाने के लिए निर्वाचन आयोग के स्थापना दिवस 25 जनवरी को ही राष्ट्रीय मतदाता दिवस के रूप में मनाने की शुरूआत की और 2011 से हर साल 25 जनवरी को ‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस‘ मनाया जाता है।
इस अवसर पर डा0 एके गौतम, डा0 पारेश पुन्डीर, डा0 वाईके शर्मा, इं0 अभिषेक राय, डा0 नवीन द्विवेदी, डा0 नितिन गुप्ता, डा0 प्रगति शर्मा, इं0 अमित गुप्ता, इं0 मनोज झा, इं0 पारूल गुप्ता, इं0 मनोज गुप्ता, इं0 मनीष कुमार, इं0 बब्लू कुमार, राजेन्द्र कुमार, मुरसलीन रहमान, मनोज कुमार, इं0 मृदुल शर्मा, इं0 अतुल कुमार, संगिता अग्रवाल, इं0 विकुल कुमार, इं0 पुनित गोयल, इं0 निलांशु गुप्ता, इं0 रिषभ भारद्वाज, इं0 शिवानी कौशिक, इं0 मोनिका सिंह, इं0 गिरधारी लाल, इं0 सुभम कश्यप, इं0 आकांशा वत्स, इं0 रिचा तिवारी, धीरज, आकाश आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।