सुरेंद्र सिंघल ने जिलाधिकारी से की देवबंद में यूपी रोडवेज का डिपो बनाए जाने की मांग

गौरव सिंघल, सहारनपुर। अंतरराष्ट्रीय ख्याति के प्रमुख शहर देवबंद में यूपी रोड़वेज का डिपो बनने की उम्मीद बढ़ गई है। वरिष्ठ  पत्रकार और समाजसेवी सुरेंद्र सिंघल ने जिलाधिकारी अखिलेश सिंह से मिलकर यह मांग की। जिलाधिकारी ने डिपो बनाए जाने की प्रक्रिया को तेज करते हुए आज एसडीएम देवबंद संजीव कुमार, नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी डा. धीरेंद्र कुमार राय को निर्देश दिए कि वे यूपी रोड़वेज का डिपो बनाए जाने के लिए मौजूदा बस स्टैंड की भूमि को लीज पर देने का काम करें। 

बता दें कि पिछले कुछ वर्षों से यूपी रोड़वेज नगर पालिका की जगह को किराए पर लेकर अपना बस स्टैंड संचालित कर रहा है। यूपी रोड़वेज के क्षेत्रीय प्रबंधक अनिल कुमार से भी जिलाधिकारी ने इस संबंध में प्रस्ताव बनाकर नगर पालिका को भेजने के लिए निर्देशित किया। देवबंद दिल्ली-देहरादून राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित है। क्षेत्र की आबादी करीब छह लाख है और देवबंद नगर की आबादी ही सवा लाख के करीब है। यहां से देहरादून,  हरिद्वार, अंबाला, चंडीगढ़, नई दिल्ली, मेरठ, आगरा, लखनऊ को बसें होकर जाती हैं। करीब-करीब सभी बसों का ठहराव देवबंद में है, लेकिन रोड़वेज का डिपो यहां ना होने की वजह से रात्रि कालीन और प्रातःकालीन बस सेवाएं उपलब्ध नहीं हैं, जिससे यात्रियों को भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है और ट्रेनों पर ही ज्यादा दबाव रहता है।

पूर्व में सहारनपुर में कमिश्नर रहे संजय कुमार (जो वर्तमान में उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक हैं) ने भी देवबंद में यूपी रोड़वेज का डिपो बनाने के लिए प्रयास किए थे, लेकिन नगर पालिका निगम को अपनी जमीन देने को लेकर टरकाऊ रवैया अपनाए हुई थी। नए सिरे से जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने इस संबंध में गंभीर प्रयास शुरू किए हैं। परिवहन निगम के अध्यक्ष संजय कुमार भी देवबंद में डिपो बनाए जाने की दृढ़ इच्छा रखते हैं। जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने वरिष्ठ पत्रकार सुरेंद्र सिंघल को बताया कि देवबंद के साथ-साथ कस्बा गंगोह में भी वह यूपी रोड़वेज का डिपो बनवाने का काम करेंगे। वहां भी यूपी रोड़वेज की बसों का संचालन सुचारू रूप से किए जाने से लोगों को भारी सुविधा होगी और निगम का राजस्व भी दोगुना-तिगुना बढ़ जाएगा। 

देवबंद नगर के प्रबुद्ध लोगों व्यापारी अमित जैन, शशांक जैन, वरिष्ठ पत्रकार गौरव सिंघल, अमित सिंघल एडवोकेट, अनुपम वशिष्ठ एडवोकेट, शिक्षक मोहित आनंद, वरूण कुमार, लोकेश वत्स एडवोकेट, समाजसेवी बिजेंद्र गुप्ता, पूर्व सभासद उर्मिला सिंघल, बजरंग दल के प्रांत संयोजक विकास त्यागी  आदि ने जिलाधिकारी अखिलेश सिंह के इस कदम की सराहना की है।