युवा बोक्सर अजय कुमार ने अंतरराष्ट्रीय इंडो-नेपाल चैंपियनशिप में 76 किलोग्राम भार में स्वर्ण पदक जीता, घर लौटने पर आज हुआ भव्य स्वागत

गौरव सिंघल, सहारनपुर। नेपाल में आयोजित इंडो-नेपाल चैंपियनशिप में युवा छात्र अजय कुमार ने बोक्सिंग में स्वर्ण पदक जीता हैं। पिछले माह सितंबर में अजय कुमार ने हरियाणा के रोहतक में इसी प्रतियोगिता में सिलवर पदक जीता था। तब उसका चयन इंडो-नेपाल चैंपियनशिप में शामिल होने के लिए किया गया था। युवा होनहार अजय कुमार सहारनपुर मंडल के जानसठ तहसील के छोटे से गांव सादपुर के निवासी हैं। उन्होंने नेपाल में स्वर्ण पदक जीतकर भारत, उत्तर प्रदेश और सहारनपुर मंडल का गौरव बढ़ाया हैं। अजय कुमार प्रतिभाशाली बोक्सर हैं और वह स्नातक की पढ़ाई कर रहे हैं। अजय कुमार के कोच नसीम अहमद निवासी महरौली, नई दिल्ली उन्हें बोक्सिंग में लगातार गुर सिखा रहे हैं। उनकी सफलता में उनके कोच नसीम अहमद की भी भूमिका है। 

अजय कुमार के बड़े भाई कविंद्र कुमार (उत्तर प्रदेश सूचना निदेशालय में कार्यरत हैं, जो वर्तमान में दिल्ली में डेपुटेशन पर हैं,) ने आज बताया कि अजय कुमार अभ्यास के साथ-साथ फिटनेस और डाइटिंग का भी पूरा ख्याल रखते हैं। घर वालों का उन्हें भरपूर सहयोग मिल रहा है। स्वर्ण पदक जीतने के बाद आज वह अपने घर गांव सादपुर पहुंचे तो ढोल ढमाके और जुलूस के साथ उनका भव्य स्वागत किया गया। इस मौके पर अजय कुमार ने बताया कि वह अपने लिए सत्र की इससे बेहतर शुरूआत की उम्मीद नहीं कर सकते थे। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहली बार बोक्सिंग में स्वर्ण पदक जीता हैं। उन्होंने अपनी जीत का श्रेय अपनी माता शकुंतला देवी, पिता ओंकार सिंह, भाई कविंद्र कुमार और कोच नसीम अहमद को दिया है।