सहारनपुर जनपद ने विकास योजनाओं में भी लगातार दूसरी बार प्रथम व आईजीआरएस रैंकिंग में 06वां स्थान प्राप्त किया

गौरव सिंघलसहारनपुर। जिलाधिकारी अखिलेश सिंह की अध्यक्षता में विकासभवन सभागार में मुख्यमंत्री तथा जनपद के नोडल अधिकारी द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुपालन तथा नवीन विकास कार्यक्रमों की मासिक समीक्षा बैठक हुयी। इस अवसर पर उन्होंने आई0जी0आर0एस0, शीत लहरी से बचाव हेतु रैन बसेरा एवं अलाव की व्यवस्था, जनपद में आयुष्मान कार्ड की प्रगति, हेल्थ एवं वेलनेस सेन्टर, पंचायत भवनों के निर्माण, पीएम आवास योजना ग्रामीण एवं शहरी, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह, जनकल्याणकारी पेंशन योजनाएं, चीनी मिलों द्वारा गन्ना मूल्य भुगतान की स्थिति, विद्युत विभाग, स्पोर्टस कॉलेज बेहट, माँ शाकुम्भरी देवी विश्वविद्यालय, चीनी मिलों द्वारा गन्ना मूल्य भुगतान की स्थिति, मिनी बाईपास, जल जीवन मिशन के कार्य की स्थिति आदि की बिन्दुवार समीक्षा की गयी। 

जनपद में विकास योजनाओं में उत्तर प्रदेश में प्रथम स्थान आने पर जिलाधिकारी ने सभी संबंधित विभागों को बधाई देते हुए कहा कि इसकी निरंतरता बनायी रखी जाए तथा कार्य करने के साथ ही डाटा फीडिंग का कार्य प्राथमिकता से किया जाएं। इसके साथ ही आईजीआरएस रैंकिंग में प्रदेश स्तर पर लम्बी छलांग लगाते हुए 06 वां स्थान प्राप्त कर सभी अधिकारियों को प्रथम स्थान में आने के लिए प्रोत्साहित करते हुए व्यक्तिगत रूप से समस्याओं के निस्तारण में प्रयास करने के निर्देश दिए। 

इस अवसर पर आईजीआरएस निस्तारण के संबंध में शासन द्वारा प्राप्त निर्देशों के क्रम में उन्होंने कहा कि इसका डाटा लोड करते समय अंतरिम आख्या अपलोड न की जाए। शिकायत के मूल उद्देश्य का समझकर उसको निस्तारित किया जाए। सभी अधिकारियों का लक्ष्य शिकायतों का अंतिम रूप से निस्तारण होना चाहिए। उच्च स्तर से प्राप्त आईजीआरएस में लापरवाही की स्थिति में संबंधित अधिकारी के बारे में विभाग को अवगत करा दिया जायेगा तथा कोर्ट में स्टे से संबंधित शिकायतों के लिए आख्या अपलोड करते समय कोर्ट केस नम्बर, विभाग का प्रयास भी अंकित किया जाए एवं भूमि संबंधी प्रकरणों में राजस्व एवं पुलिस की संयुक्त टीम गठित कर निस्तारण करें। जंहा तक संभव हो सके इन शिकायतों के निस्तारण के लिए स्थानीय निरीक्षण आख्या के साथ आवेदक की संतुष्टि को प्राथमिकता दी जाए। जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने कहा कि नहरों का संचालन पूर्ण क्षमता के साथ किया जाए और इसके साथ ही इसकी डाटा फीडिंग करवाना सुनिश्चित किया जाए। उन्होने बेहट में बन रहे स्पोर्टस कॉलेज के बारे में कहा कि बरसात से पूर्व ही कॉलेज की कनेक्टिविटी के लिए रपटे का निर्माण पूर्ण किया जाए। विद्युत विभाग द्वारा की जा रही कार्यवाहियों को पारदर्शिता के साथ करने के साथ ही जनप्रतिनिधियों को भी कार्यवाही की जानकारी उपलब्ध करवाने के एवं तहसील स्तर पर माह में एक बार उप जिलाधिकारी के साथ बैठक करने के निर्देश दिये। मुख्य चिकित्साधिकारी को आयुष्मान गोल्डन कार्ड बनाने के कार्य में तेजी लाते हुए शत-प्रतिशत करने के साथ ही हेल्थ एवं वेलनेस सेन्टर में प्रगति एवं हेल्थ एटीएम को यथाशीघ्र क्रियान्वित करने के निर्देश दिये। हेल्थ एवं वेलनेस सेन्टर के निर्माण की कार्यदायी संस्था को इस कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही न बरतने को कहा। सभी चिकित्सालयों में कोविड प्रोटोकाल का कडाई से अनुपालन एवं चिकित्सालयों में कोविड से बचाव के लिए पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित बनाए रखने के लिए कहा। पंचायती राज विभाग द्वारा ऑपरेशन कायाकल्प के कार्यों, पंचायत भवनों के निर्माण कार्य केा लक्ष्य के अनुरूप पूर्ण करने के निर्देश दिये। पीएम आवास योजना ग्रामीण के पात्र लाभार्थियों को आवंटन लिस्ट में नाम आते ही अवगत कराने के निर्देश दिये। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के बारे में जिला पूर्ति अधिकारी ने अवगत कराया कि आधार सीडिंग का कार्य पूर्णता की ओर है तथा तीन रिक्त दुकानों का आवंटन किया जा चुका है।

जिलाधिकारी ने निर्देश देते हुए कहा कि राशन कार्डों का निरंतर सर्वे कर अपात्रों के राशन कार्ड निरस्त किये जाएं तथा पात्रों को इसका आवंटन किया जाए। जन कल्याणकारी योजनाओं में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत एक भव्य आयोजन करवाने, वृद्धावस्था पेंशन, निराश्रित महिला पेंशन, दिव्यांगजन पेंशन योजना के साथ ही छात्रवृत्ति को समय से उपलब्ध करवाने के निर्देश संबंधित अधिकारी को दिये। वन विभाग को नये वित्तीय वर्ष में पौधारोपण के लिए पहले से ही सभी आवश्यक तैयारियां पूर्ण करने एवं सभी विभागों से समन्वय कर लक्ष्य के अनुरूप कार्ययोजना तैयार के निर्देश दिये। गन्ना मूल्य भुगतान में देरी करने वाली चीनी मिलों पर नियमानुसार कार्यवाही करने की बात कही।निर्माण से संबंधित सभी कार्यदायी संस्थाएं निर्माण कार्यों को गुणवत्ता, समयबद्धता के साथ मानक के अनुरूप पूर्ण करना सुनिश्चित करें। निर्माण कार्यों में गुणवत्ता के साथ समझौता करने वालों के विरूद्ध कडी कार्यवाही की जायेगी। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी विजय कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 संजीव मांगलिक, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी अमित कुमार सहित सभी विभागाध्यक्ष उपस्थित रहे।