जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव ने किया वृद्धाश्रम का निरीक्षण, विधिक जागरूकता शिविर आयोजित

गौरव सिंघल, सहारनपुर। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यपालक अध्यक्ष एवं माननीय राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशन में तथा जनपद न्यायाधीश श्रीमती बबीता रानी के मार्गदर्शन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव श्रीमती सुमिता ने Pan India Campaign  के अनुक्रम में राजकीय इण्टर कालेज ग्राम पंचायत कैलाशपुर में विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया। 

जागरूकता शिविर को सम्बोधित करते हुये जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव सुमिता ने कहा कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण का महत्वपूर्ण कार्य है लोगो को जागरूक करना। जब लोग जागरूक होंगे, उसके बारे में जानेगें तभी अपने अधिकारों का उपयोग कर पायेगें। हमारा संविधान भारत के सभी नागरिक कानून के समक्ष समानता का अधिकार देता है। हमारा संविधान जाति, धर्म, लिंग, भाषा व क्षेत्र के आधार पर किसी भी प्रकार के भेदभाव की इजाजत नही देता है। साथ ही संविधान ने भारत में निवासित विशेष वर्गों, महिलाओं और बच्चों, आदिवासी व अनसूचित जाति व जनजाति वर्गों के लिये कल्याणकारी कानून बनाने का दायित्व राज्य सरकारों को सैांपा गया। साथ ही सचिव ने वहां उपस्थित लोगों को बताया कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण निःशुल्क विधिक सहायता देने का कार्य करता है। नि:शुल्क विधिक सहायता अर्थात नि:शुल्क अधिवक्ता उपलब्ध कराना है। सचिव ने 12 नवम्बर को आयोजित होने लोक अदालत के बारे में बताया जिसमें सुलह के आधार पर मुकदमों का निस्तारण होगा। इसके साथ-साथ राजकीय पश्चातवर्ती देख रेख संगठन छुटमलपुर, वृद्धाश्रम फतेहपुर, छुटमलपुर एवं बालगृह (बालिका) पुष्पाजंली विहार जनता रोड का निरीक्षण किया गया है। राजकीय पश्चातवर्ती देखरेख संगठन में साफ-सफाई की व्यवस्था उचित पाई गई। रसोई घर में दोपहर का भोजन तैयार था। 

सचिव ने वहां रहने वाली संवासिनियों से व्यक्तिगत रूप से बातचीत की। कुछ संवासिनियों ने स्कूल जाने की इच्छा जताई। इस सम्बन्ध में अधीक्षिका को निर्देश दिये गये कि वे जिला प्रोबेशन अधिकारी एवं जिला विद्यालय निरीक्षक को इस सम्बन्ध में पत्र लिखें ताकि संवासिनियों को शिक्षा प्राप्ति में कोई अवरोध न रहे और जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यालय को इच्छुक संवासिनियां जो पढना चाहती है उसकी सूची भेजें। सचिव ने प्रचलित सरकारी योजनाओं के बारे में उनको जागरूक किया ताकि वह उन योजनाओं का हर संभव लाभ उठा सकें। इसी क्रम में छुटमलपुर स्थित वृद्धाश्रम के औचक निरीक्षण में सचिव ने साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिये। वृद्धा आश्रम में कुल 62 बुजुर्ग निवासरत है। शिविर में ग्राम कैलाशपुर, उग्राहू, छजपुरा, मौ0पुरगाडा, मोहिद्दीनपुर एवं तिवाया ग्राम के निवासीगण ने  जागरूकता शिविर में प्रतिभाग किया।