भगत सिंह वर्मा ने की किसानों को रुड़की रेलवे लाइन में भूमि अधिग्रहण का मुआवजा तत्काल देने की मांग

गौरव सिंघल, देवबंद। मोहल्ला सैनी सराय में किसानों की बैठक को संबोधित करते हुए भारतीय किसान यूनियन वर्मा व पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने कहा कि रेलवे विभाग ने देवबंद-रुड़की रेलवे लाइन पर कार्य शुरू कर दिया गया है, जबकि अभी भी किसानों को भूमि अधिग्रहण का मुआवजा नहीं दिया गया है। उन्होंने बताया कि देवबंद हाईवे पर एक करोड रुपए बीघे तक जमीन के रेट है, जबकि रेलवे विभाग किसानों को 50 लाख रुपए बीघा से भी कम मुआवजा अभी तक भी नहीं दिला पाया है, जिससे देवबंद के किसानों को भारी आर्थिक परेशानी है और देवबंद के किसानों की 10 लाख रुपए से अधिक सब्जी व गन्ने की फसल को उजाड़कर रेलवे विभाग ने कब्जा कर लिया है। 

भगत सिंह वर्मा ने कहा कि तहसील विभाग, जिला प्रशासन, रेलवे विभाग अविलंब कार्रवाई करके क्षेत्र के किसानों को कम से कम एक करोड रुपए बीघा मुआवजा तत्काल दिलाएं और 10 लाख उजाड़ी गई फसल का मुआवजा तत्काल दिलाएं और किसानों के प्रत्येक परिवार से एक शिक्षित नौजवान को रेलवे विभाग में नौकरी दिलाएं। भगत सिंह वर्मा ने केंद्र सरकार, रेलवे विभाग, जिला प्रशासन को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि यदि जल्द ही देवबंद क्षेत्र के किसानों को जमीन का उचित मुआवजा व फसल का मुआवजा नहीं दिल आ गया तो भारतीय किसान यूनियन वर्मा बड़ा आंदोलन शुरू करेगी।

बैठक की अध्यक्षता चौधरी ऋषिपाल सिंह ने की व संचालन गोपाल सैनी ने किया। बैठक में चौधरी बिरम सिंह, नरेश कुमार एडवोकेट, सुरेश सैनी, बबलू सैनी, करम सिंह सैनी, राजेंद्र सैनी, रामकिशोर, कंवरपाल सैनी, सुखपाल सिंह, सोहनलाल, जयवीर सिंह, रामनाथ सिंह, अंकित सैनी, गौरव सैनी, नाथीराम सैनी, इंजीनियर विवेक कुमार आदि ने भाग लिया।