जिला विधिक सेवा प्राधिकरण व स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त तत्वाधान में जागरूकता शिविर आयोजित

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण से प्राप्त कलेन्डर के अनुसार जनपद न्यायाधीश व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष चवन प्रकाश केे निर्देषन में सर्वाइकल कैंसर विषय पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण व स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त तत्वाधान में कस्तूरबा गांधी विद्यालय में जागरूकता शिविर आयोजित किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव व सिविल जज सीनियर डिवीजन सलोनी रस्तोगी ने फीता काटकर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। 

जागरूकता शिविर में डाॅ. राकेश बंसल तथा उनकी टीम द्वारा विद्यालय की बालिकाओं को सर्वाइकल कैंसर की विस्तार से जानकारी दी गई। उन्होने बताया कि सर्वाइकल कैंसर बच्चेदानी का कैंसर है। इस कैंसर का मुख्य कारण भ्च्ट वायरस है। उन्होने बताया कि इसके अतिरिक्त धुम्रपान, मोटापा, पारिवारिक इतिहास फलो व सब्जियो का कम सेवन, गर्भनिरोधक गोलियो का सेवन, कम उम्र में गर्भवती होना आदि भी सर्वाइकल कैंसर के कारण हो सकते हैं। उन्होंने बताया कि सर्जरी, रेडियेशन थेरेपी, कीमो थेरेपी इसके उपचार है, परन्तु सर्वाइकल कैंसर की रोकथाम के लिए वैक्सीन लगवाएं। उन्होंने बताया कि 9 वर्ष या उससे अधिक उम्र की बालिकाओं को तथा शादी के बाद जाॅच के उपरान्त टीका लगवाया जा सकता है। 

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव सलोनी रस्तोगी ने जानकारी दी कि 26, 27, 28 व 29 सितम्बरको चैक बाउन्स के मामले को शीघ्र निपटाने के लिए विशेष लोक अदालत का आयोजन एनआईएक्ट के मामलो की विशेष अदालत में किया जायेगा। उन्होंने बताया कि वादकारी अधिक से अधिक संख्या में अपने मामलो का निस्तारण सुलह समझोते के आधार पर कराये तथा धन व समय की बचत कर लाभान्वित हों।

सिविल जज सलोनी रस्तोगी ने सभी से अपील की, कि वे बालिकाओं को वैक्सीन अवष्य लगवाएं, जिससे  इस गम्भीर बीमारी को होने से रोका जा सके। इस अवसर पर तितावी शुगर मील के सहयोग से 50 बालिकाओ की सर्वाइकल कैंसर की वैक्सीन लगवाई गयी। अन्त में विद्यालय की प्रधानाचार्य ने धन्यवाद ज्ञापित किया।