बारिश में सडकें बनी तालाब, बाजारों में पसरा सन्नाटा, सरकारी कार्यालय पानी से लबालब

गौरव सिंघल, देवबंद। शुक्रवार को अल सुबह से हो रही भारी बारिश के चलते क्षेत्र में सडकों ने तालाब का रूप धारण कर लिया। सुबह देर से खुले नगर के  बाजारों में पूरे दिन सन्नाटा पसरा रहा। बारिश से जहां एसडीएम कार्यालय सहित सरकारी कार्यालय पानी से लबालब हो गए, वहीं नगर के मोहल्ले और कॉलोनिया में भी जबरदस्त पानी भरा रहा। लगातार हो रही बारिश से नगर और देहात की सड़कें पानी से लबालब हो गई, जिसके चलते ग्रामीणों का तहसील मुख्यालय से संपर्क कट गया इतना ही नहीं नगर में ज्यादातर सरकारी कार्यालय जहां पानी में डूबे नजर आएनगर की सड़कों पर पानी भरने के कारण लोग परेशान दिखे, जिससे पालिका की सफाई व्यवस्था के दावों की भी पोल खुल गई। किसानों को फसलें खराब होने का डर भी सताने लगा है। 

शुक्रवार को बारिश के चलते बाजारों में भी सन्नाटा नजर आया और दुकानदार हाथ पर हाथ धरे बैठे रहे। गुरुवार से ही क्षेत्र में लगातार हो रही बारिश ने गुरुवार की रात्रि और शुक्रवार की सुबह रफ्तार पकड़ ली, बारिश से एसडीएम कार्यालय सहित देवबंद के सरकारी कार्यालय पानी से लबालब हो गए, वही नगर के मोहल्ले कॉलोनियां जलमग्न हो गई और लोग बाल्टी लेकर घरों और दुकानों के अंदर घुसे पानी को निकालते हुए दिखाई दिए।

बारिश के कारण नगर के बिजली कार्यालय में पानी भरने के चलते ताला लटका नजर आया। जिसके चलते बिल जमा करने पहुंचे उपभोक्ताओं को मायूस होकर लौटना पड़ा, वही सरकारी अस्पताल भी पानी से लबालब नजर आया। जिसकी वजह से इक्का-दुक्का मरीज ही अस्पताल की ओपीडी तक पहुंच पाया। इतना ही नहीं सिविल कोर्ट में पानी भरने के चलते वकील और फरियादी एक-दूसरे से मिलने का इंतजार करते रहे। वकीलों द्वारा पालिका ईओ डॉक्टर धीरेंद्र राय को फोन द्वारा सूचना देकर कचहरी परिसर से पानी निकलवाने की व्यवस्था करने की मांग की गई। मौके पर पहुंचे सफाई कर्मियों ने कचहरी परिसर से पानी निकासी की व्यवस्था की। 
नगर के लहलहाता चौक, शाहजीलाल, बस स्टैंड रोड, आबकारी रोड, बडजियाउलहक, ईदगाह रोड, दारुल उलूम रोड, शाह विलायत, बैरुन कोटला, रेती चौक बेरियान सहित मुख्य सड़कों पर पानी भरने के चलते नगर के लोग परेशान रहे और ज्यादातर लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकले। यही कारण है कि बाजारों में भी सन्नाटा रहा और दुकानदार हाथ पर हाथ रखे बैठे रहे। उधर, देहात के रास्तों पर पानी भरने के चलते ग्रामीणों का तहसील मुख्यालय से संपर्क कटा रहा। लगातार हो रही बारिश से किसानों को भी अपनी फसलें खराब होने का डर सताने लगा है। नगर पालिका द्वारा बरसात से पहले नगर में किए गए सफाई के सभी दावों की पोल खुल गई और सड़कों पर बारिश के बाद भी घंटो तक पानी भरा रहा