पॉलिथीन के भण्डारण एवं विक्रय पर डीएम ने दिये कडी कार्यवाही के निर्देश

गौरव सिंघल, सहारनपुर। जिलाधिकारी अखिलेश सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला गंगा सुरक्षा समिति एवं पर्यावरण समिति की बैठक आयोजित की गयी। बैठक में जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता अभियान चलाकर ग्रामीणों को प्लास्टिक के प्रयोग न करने के लिए प्रेरित करें। इसी के साथ जनपद में पॉलिथीन के भण्डारणकर्ता एवं विक्रेताओं पर कडी कार्यवाही की जाए साथ ही पालिथीन जब्तीकरण का कार्य करते हुए नोटिस भी दिया जाए। इसके लिए औद्योगिक संस्थानों एवं प्रतिष्ठानों के स्वामियों के साथ पहले से ही बैठक कर ली जाए। होटल रेस्टोरेंट एवं बैंक्वेट हॉल में यदि पॉलिथीन का इस्तेमाल पाया जाता है तो कडी कार्यवाही की जाये। 

उन्होंने कहा कि सभी नगर निकाय आगामी त्यौहारों के दृष्टिगत होने वाले आयोजनों में पॉलिथीन को पूर्णतया प्रतिबन्धित किया जाने के लिए पहले से ही आयोजकों के साथ बैठक कर लें। डीएम अखिलेश सिंह ने निर्देश दिए कि यमुना एवं हिण्डन नदी के 500 मीटर के बाढ क्षेत्र में जनित ठोस अपशिष्ट/प्लास्टिक अपशिष्ट का निस्तारण सुनिश्चित किया जाए। उन्होने कहा कि 01 एवं 02 अक्टूबर को आजादी के अमृत महोत्सव मनाए जाने के संबंध में संबंधित विभाग से कार्ययोजना बनाकर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। 
पर्यावरण समिति के अंतर्गत उन्होने निर्देश दिए कि जनपद में बैटरी वाहनों को प्रोत्साहित करने के साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाए कि कहीं पर जाम के हालात न बनें। ई-रिक्शा के रूट का निर्धारण करते हुए यह भी सुनिश्चित किया जाए कि ई-रिक्शा केवल निर्धारित संख्या में यात्रियों के लिए ही इस्तेमाल हो। ई-रिक्शा में किसी प्रकार का सामान ढोने का कार्य न किया जाए। वृक्षारोपण जन आन्दोलन में किये गये रोपणों का जियो टैगिंग कर संबंधित सभी विभाग रिपोर्ट प्रस्तुत करें। इसी प्रकार स्थानीय नगर निकाय डोर टू डोर कलेक्शन के साथ-साथ गीले एवं सूखे कचरे का पृथक्करण भी करने के निर्देश दिये गये। 
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी विजय कुमार, डीएफओ कन्हैया पटेल, जिला पंचायत राज अधिकारी आलोक कुमार शर्मा तथा संबंधित विभाग के अधिकारीगण उपस्थित रहे।