श्री कुंद कुंद जैन महाविद्यालय में घरेलू हिंसा विषय पर वाद-विवाद प्रतियोगिता आयोजित
शि.वा.ब्यूरो, खतौली। श्री कुंद कुंद जैन महाविद्यालय में महिला प्रकोष्ठ समिति के अंतर्गत शासन के आदेश अनुसार चलाए गए कार्यक्रम मिशन शक्ति फेस 3 के अंतर्गत आज वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसका विषय घरेलू हिंसा रहा।
कार्यक्रम का शुभारंभ प्राचार्य डॉ0 नीतू वशिष्ठ तथा डॉ0 अरविंद राणा के द्वारा किया गया। प्राचार्य डॉ0 नीतू वशिष्ठ ने बताया कि घरेलू हिंसा में सुधार लाने के लिए सबसे पहले कदम के तौर पर यह आवश्यक है कि पुरुषों को महिलाओं के खिलाफ रखने के स्थान पर पुरुषों को इस समाधान का भाग बनाया जाए। उन्होंने बताया कि एक अच्छा तरीका यह भी हो सकता है कि हमें समृद्ध सामाजिक अभियान की शुरुआत करें और इस बुराई से समाज को मुक्त करें। कार्यक्रम की संचालक दीप्ति जैन ने बताया कि घरेलू हिंसा के दायरे में ऐसे व्यक्ति आते हैं, जिनका महिला के साथ पारिवारिक संबंध है। उन्होंने बताया कि इसके अंतर्गत कई कानूनी प्रावधान है। उन्होंने बताया कि घरेलू हिंसा के विरुद्ध महिला संरक्षण अधिनियम 2005 भारत की संसद के द्वारा 26 अक्टूबर 2006 को लागू हुआ था।
कार्यक्रम में छात्र मनु, प्रिंस, मंजू, मेहरान आदि छात्र-छात्राओं ने अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम में डॉ0 रीना, डॉ0 सपना जैन, डॉ0 मनीष जैन, डॉ0 विपिन बंसल, इंजीनियर आशीष जैन, पारूल जैन एवं सुभाष चंद आदि शिक्षक, कर्मचारी एवं छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।