जिलाधिकारी के निर्देश पर फर्जी आधार केंद्र संचालकों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज
शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी के निर्देश पर फर्जी आधार केंद्र संचालकों के विरुद्ध थाना नई मंडी में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। भारतीय स्टेट बैंक शाखा जानसठ में शाखा प्रबंधक के पद पर कार्यरत रमन कांत द्वारा फर्ज़ी आधार कार्ड केंद्र संचालकों की शिकायत प्राप्त हुई थी। शाखा प्रबंधक ने बताया कि 9 सितंबर को बैंकों से संबंधित एक मीटिंग जिला अग्रणी प्रबन्धक की अध्यक्षता में आहूत की जा रही थी, जिसमें जिला समन्वयक अधिकारी द्वारा ग्राम बिलासपुर में फर्जी आधार केंद्र चालू होने के बारे में बताया गया था, जहाँ निर्धारित शुल्क से अधिक शुल्क लेकर धोखाधड़ी व बेईमानी से आधार कार्ड में संशोधन व नए आधार कार्ड बनाए जा रहे थे। शिकायत के आधार केंद्र पर छापेमारी की कार्रवाई करते हुए आधार कार्ड केंद्र संचालक गौरव कुमार को मौके से गिरफ्तार करके फिंगर प्रिंट मशीन, आंख की पुतलियों को स्कैन करने वाली मशीन, वेब कैमरा एवं एक लैपटॉप बरामद किया गया।
आधार कार्ड केंद्र संचालक द्वारा कोई भी पंजिका एवं रजिस्ट्रेशन संबंधित कागज नहीं दिखाए गए और न हीं कोई जानकारी उपलब्ध कराई गई। जिस पर कार्यवाही करते हुए शाखा प्रबंधक ने गौरव कुमार पुत्र कैलाश चंद्र के विरुद्ध धोखाधड़ी व बेईमानी से फर्जी आधार कार्ड बनाने एवं संशोधन कराने के संबंध में प्राथमिकी दर्ज कराई। इसी क्रम में कुछ दिन पहले नगर मजिस्ट्रेट अभिषेक कुमार सिंह एवं ड्रग इंस्पेक्टर लव कुश प्रसाद द्वारा जिला परिषद में नकली दवाई बेचने वाले व्यापारियों के विरुद्ध छापामारी की कार्यवाही की गई थी, जिसमें नकली दवाई बेचने वाले व्यापारी के विरुद्ध भी थ्प्त् दर्ज कराते हुए कानूनी कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि जिलाधिकारी चंद्र भूषण सिंह के निर्देश पर जनपद में लगातार छापेमारी, फर्ज़ी आधार केंद्र , हॉस्पिटल की जांच, अतिक्रमण कर्ताओं एवं अवैध कब्जा करने वाले भूमाफिया के विरुद्ध अभियान चलाकर कार्यवाही की जा रही है। जिलाधिकारी गलत कार्य करने वालों के विरुद्ध गंभीरता से कार्य करते हुए कार्यवाही कर रहे हैं।