आर्य प्रतिनिधि सभा का जनपद में हुआ भव्य स्वागत
शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। आर्य समाज शहर व जिला आर्य प्रतिनिधि सभा द्वारा प्रांत में निर्वाचित आर्य प्रतिनिधि सभा उत्तर प्रदेश के प्रधान डॉ० धीरज सिंह व समस्त कार्यकारिणी का पगड़ी पहनाकर भव्य स्वागत किया गया। इस अवसर पर सभी अतिथियों को सम्मान स्वरूप ऋषि दयानंद सरस्वती जी का  चित्र भेंट किया गया। इसके साथ ही मुजफ्फरनगर केमिस्ट एवं ड्रगिस्ट एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष, भारतीय जनता पार्टी समन्वय समिति के सह संयोजक एवं स्वास्थ्य विभाग के नामित सदस्य सुभाष चौहान को भी पटका देकर सम्मानित किया गया।
सभा के वरिष्ठ उप प्रधान डॉ० वीरेंद्र रत्नम ने कहा कि मैंने दशकों पूर्व आर्य समाज में प्रवेश किया था, उस समय आर्यों का चरित्र अति उत्तम था। उन्होंने कहा कि वर्तमान में समाज के पतन का प्रभाव आर्य समाज पर भी पड़ा है। समाज में इस प्रकार के लोगों का प्रवेश हो गया है, जिनका उद्देश्य आर्य समाज की छवि को धूमिल करना रहा है।  उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों का उद्देश्य धर्म प्रचार न करके, धन कमाने का हो गया है। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों से सावधान रहते हुए महर्षि दयानंद सरस्वती जी के बताए मार्ग पर हम सब लोगों को चलते हुए आर्य समाज का उत्थान करना ही हम सब का उद्देश्य होना चाहिए।
आचार्य यशवीर ने कहा कि आर्य समाज ऋषि दयानंद के द्वारा स्थापित एक संस्था है, जिसका उद्देश्य समाज का उत्थान एवं वैदिक धर्म एवं वैदिक शिक्षा का प्रचार एवं प्रसार करना है और वह हमें करना चाहिए। उन्होंने कहा कि नवनिर्वाचित प्रांतीय सभा प्रान्त में नई चेतना एवं ऊर्जा के साथ प्रचार कार्य को आगे बढ़ाएगी। डॉ० धीरज सिंह ने अपने अध्यक्षीय भाषण में कहा कि आज हम हम सब की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी बनती है कि जिन लोगों द्वारा सभा की संपत्ति पर अवैध कब्जे किए गए हैं उन्हें कब्जा मुक्त कराए पूर्व में देखा गया है कि जो व्यक्ति सभा का प्रधान रहा उन्होंने सभा को नष्ट करने में भूमिका निभाई है ऐसे लोगों से सावधान रहना है ऐसे सभी पदाधिकारियों को भी आर्य समाज की संस्थाओं से  बाहर करना होगा  यही हम सब का उद्देश्य होना चाहिए तभी सच्चे अर्थ में हम आर्य समाज की सेवा कर पाएंगे। उन्होंने नवनिर्वाचित जिला आर्य प्रतिनिधि सभा को प्रमाण पत्र प्रदान किया और सभा द्वारा सम्मान करने के लिए धन्यवाद किया।
इस अवसर पर जिला प्रतिनिधि सभा का पुनर्गठन किया गया, जिसके प्रधान आनंद पाल, महामंत्री दीपक त्यागी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष गजेंद्र राणा, मंत्री अनूप सिंह राठी एडवोकेट आदि नामित किये गए।