पत्रकारिता के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए विपुल जैन को किया गया सम्मानित
  शि.वा.ब्यूरो,बागपत। भव्य कार्यक्रम में बागपत की प्रमुख समाजसेवी संस्था वरिष्ठ नागरिक कल्याण समिति द्वारा वरिष्ठ पत्रकार विपुल जैन को सम्मानित किया गया। विपुल जैन को यह सम्मान पत्रकारिता के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिये दिया गया।  कार्यक्रम में वरिष्ठ नागरिक कल्याण समिति बागपत के अध्यक्ष जनक सिंह सोम ने कहा कि हमारी समिति विपुल जैन को पत्रकारिता के क्षेत्र में उनके बहुमूल्य योगदान के लिये सम्मानित करते हुए स्वयं को गौरवान्वित महसूस कर रही है। उन्होंने पत्रकार के रूप में विपुल जैन की निष्पक्ष कार्यशैली की जमकर प्रशंसा की। राष्ट्रीय स्तर पर ब्राहामण समाज का प्रतिनिधित्व करने वाले बागपत के प्रमुख समाजसेवी और वरिष्ठ नागरिक कल्याण समिति के उपाध्यक्ष राजपाल शर्मा ने कहा कि विपुल जैन उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सम्मानित पत्रकार है और अनेकों राष्ट्रीय स्तर की संस्थाओं द्वारा पत्रकारिता के क्षेत्र में अच्छे कार्यों के लिये सम्मानित किये जा चुके है।
समिति के सदस्य और बागपत जिला बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष एडवोकेट विजयपाल सिंह तोमर ने कहा कि विपुल जैन दैनिक राष्ट्रीय सहारा, दैनिक हिन्दुस्तान, दैनिक रॉयल बुलेटिन, दैनिक शाह टाईम्स जैसे अनेकों प्रसिद्ध अखबारों में वर्षो तक अपनी सेवायें दे चुके है। वर्तमान में एक स्वतंत्र पत्रकार के रूप में सैंकड़ो मीड़िया प्लेटफार्मो के माध्यम से समाज की सेवा कर रहे है। समिति के महासचिव ब्रहमपाल सिंह रूहेला ने कहा कि विपुल जैन अपनी पत्रकारिता के माध्यम से समाज की विभिन्न समस्याओं को अविलम्ब शासन-प्रशासन तक पहुॅचाने में अहम भूमिका अदा करते है। समिति के कोषाध्यक्ष मोहन गिरी ने कहा कि विपुल जैन द्वारा पत्रकारिता के क्षेत्र में दिये गये बहुमूल्य योगदान को कभी भी भुलाया नही जा सकता।
इस अवसर पर बोलते हुए विपुल जैन ने उन सभी प्रिंट, इलैक्ट्रोनिक और सोशल मीडिया के सहयोगियों का आभार व्यक्त किया, जिनके सहयोग से वह समाज की निरंतर सेवा कर रहे है। उन्होंने अपनी उपलब्धियों का श्रेय उन सभी मीड़िया प्लेटफार्मो को दिया, जिन्होंने उनकी खबरों को देश व समाज के हित में प्रमुखता के साथ प्रकाशित किया। इस अवसर पर राधेश्याम शर्मा, देवेन्द्र आर्य एडवोकेट, कुंवर महा सिंह चौहान, गजेन्द्र सिंह एडवोकेट बली, वेदप्रकाश भारद्वाज, मॉस्टर बशीर अहमद, डॉ सुरेशचन्द कौशिक आदि सैंकड़ो की संख्या में लोग उपस्थित थे।