विश्व कल्याण महाअनुष्ठान हेतु २० अगस्त को साध्वी सरस्वती मुंबई में
संजय शर्मा "राज", मुम्बई। कोरोना महामारी के इस कठिन दौर में अकाल मृत्यु ने अपनों को अपने से छीन लिया है। लॉकडाउन से बड़े से बड़े व्यक्ति की आर्थिक व्यवस्था चरमरा गई है। खोया मान सम्मान और धन एक बार वापस आ सकता है, परंतु जो दुनिया को ही छोड़कर असमय चला गया, उसे कैसे वापस लाया जाए? और प्रकृति के सामने इंसान यही पर मजबूर हो जाता है। कोरोना महामारी से उत्पन्न विपदाओं से मानव समाज को उबारने के लिए विश्वकल्याण व आपदा निवारण हेतु साध्वी सरस्वती के पावन सानिध्य में एक महा यज्ञ मुंबई में करवाया जाएगा, जिसकी रुपरेखा तैयार करने के लिए और कार्यक्रम की शुरुवात करवाने हेतु 20 अगस्त को रोहा होटल घाटकोपर में साध्वी सरस्वती मुम्बई आ रही है।
साध्वी सरस्वती महायज्ञ विश्वकल्याण हेतु 51 हजार श्री यंत्रों के महाअनुष्ठान प्राण प्रतिष्ठित व 11 लाख मंत्रों द्वारा अभिमंत्रित श्री यंत्र 21 ब्राम्हणो द्वारा करवाने की पूरी तैयारी करवाने के लिए मुंबई आ रही है। आने के बाद कार्यक्रम की रुपरेखा की घोषणा करेंगी। साध्वी कहती है कि देश के सभी बड़े शहर का आपदा निवारण होना चाहिए और यज्ञ अनुष्ठान ऐसे माध्यम है, जो मानव जीवन को सुरक्षित रखते हैं।