एईपीएस भुगतान में बरेली परिक्षेत्र ने रचा इतिहास, पूरे देश में अव्वल
शि.वा.ब्यूरो, बरेली। परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल के कुशल निर्देशन में परिक्षेत्र के विभागीय अफसरों व कर्मचारियों ने विपरीत परिस्थियों में आमजन को विभागीय सेवा प्रदान करने के क्षेत्र में नया इतिहास रच दिया है। परिक्षेत्र ने एईपीएस भुगतान में प्राप्त लक्ष्य 15.94 के विपरीत अभियान के तहत 19.40 करोड़ रूपये का भुगतान करके पूरे देश में अव्वल आकर अपनी काबलियत का लोहा मनवाया है। पोस्टमास्टर जनरल संजय सिंह ने बताया कि बरेली परिक्षेत्र के विभागीय अफसरों व कर्मचारियों ने अपनी मेहनत और लगन का परिचय देते हुए परिक्षेत्र को पूरे देश में अव्वल स्थान पर पहुंचाया है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश परिमंडल को एईपीएस भुगतान में प्राप्त लक्ष्य 76.10 करोड़ के सापेक्ष बरेली परिक्षेत्र को 15.94 करोड़ का लक्ष्य दिया गया था, लेकिन बरेली परिक्षेत्र के विभागीय अफसरों व कर्मचारियों ने 19.40 करोड़ रूपये का भुगतान करके पूरे देश में सर्वोच्च स्थान प्राप्त करके बरेली परिक्षेत्र का नाम रोशन कर दिखाया है।
पोस्टमास्टर जनरल संजय सिंह ने समीक्षा बैठक के दौरान हरदोई, खीरी, बिजनौर, बदायूं, शाहजहांपुर व बरेली मंडल के विभागीय अफसरों को उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए बधाई दी। पोस्टमास्टर जनरल ने बताया कि एईपीएस के तहत 11 से 13 अगस्त तक चलाये गये अभियान हरदोई डाकमंडल ने 3.15 करोड़, खीरी डाकमंडल ने 2.98 करोड़, बिजनौर डाकमंडल ने 2.56 करोड़ का भुगतान करके जहां डिजीटल प्रणाली को बढ़ावा देने में अपनी भूमिका निभाई है, वहीं अपनी कार्य कुशलता का अनूठा उदाहरण पेश किया है। बता दें कि आधार सक्षम भुगतान प्रणाली ;एईपीएसद्ध एक ऐसी डिलीटल भुगतान प्रणाली है, जिसके माध्यम से किसी भी बैंक का खाताधारक आधार का उपयोग करके डाकघरों के माध्यम से पोस्टमैन से फोन सेवा के आधार पर घर या कार्यस्थल पर ही लेन-देन की सुविधा प्राप्त कर सकता है, इसके लिए उसे बैंक या डाकघर की जाने की जरूरत नहीं होती है। ये सुविधा सभी बैंक के खाताधारकों के लिए सुलभ है।
विभागीय अफसरों के अनुसार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किसानों को आर्थिक रूप से सुदृड़ करने के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के रूप में एक निश्चित धनराशि का उनके खातों में अंतरण किया था। कोविड़ 19 की भीषण आपदा के चलते डाक विभाग के कर्मचारियों ने किसानों, मजदूरों को उनके घर व खेतों पर जाकर ही एईपीएस के माध्यम से उन्हें भुगतान उपलब्ध कराया है। इसके लिए डाक विभाग ने हाल ही में 11 से 13 अगस्त तक एक अभियान चलाया था। बता दें कि इससे पूर्व भी बरेली परिक्षेत्र के अधीन आने वाले डाक मंडलों के कर्मचारी विभिन्न अभियानों में अपने कौशल का परिचय देते हुए प्रदेश व देश में प्रथम स्थान प्राप्त करने का गौरव प्राप्त कर चुके हैं।