अमित कुमार सिंह ने फिर मनवाया अपनी काबलियत का लोहा, पत्रकार-प्रशासन टकराव का हुआ पटाक्षेप, धरना-प्रदर्शन समाप्त

 


अमजद रजा, जानसठ। वरिष्ठ पीसीएस अधिकारी व जनपद के अपर जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह ने एक बार फिर अपनी काबलियत का लोहा मनवाकर प्रशासन की फजीहत होने से बचा ली है। जिलाधिकारी चन्द्र भूषण सिंह के निर्देश पर उनके प्रतिनिधि के रूप में अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमित सिंह पत्रकारों के बीच पहुंचे और वार्ता करते हुए उन्होंने समूचे घटनाक्रम पर खेद व्यक्त किया। उन्होंने यह भी आश्वासन दिया कि भविष्य में इस तरह घटना की पुनरावृत्ति नहीं होने दी जाएगी। अमित कुमार सिंह के आश्वासन पर पत्रकारों ने मामले का पटाक्षेप करते हुए धरना प्रदर्शन समाप्त कर दिया।


ज्ञात हो कि संपूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी द्वारा पत्रकारों को कवरेज करने से रोकने, उन्हें सभागार से बाहर निकलवाने और भविष्य में संपूर्ण समाधान दिवस की कवरेज पर रोक लगाने फरमान सुनाने से नाराज पत्रकारों प्रेस क्लब जानसठ के बैनर तले एक बैठक आयोजित कर सर्वसम्मति से धरना-प्रदर्शन एवं सरकारी योजनाओं का शुभारंभ क्रियान्वयन के समाचारों का पूर्ण रूप से बहिष्कार करने का निर्णय लिया गया था। इसी कडी आज सुबह 11 बजे पत्रकार जैसे ही धरने पर बैठे और इसकी सूचना जनपद के अन्य पत्रकारों को लगी तो भोपा मोरना ककरौली मीरापुर सिखेड़ा आदि जगहों से भी पत्रकार संगठन प्रेस क्लब जानसठ को अपना समर्थन देने धरनास्थल पर पहुंचना शुरू हो गये और देखते ही देखते धरना स्थल पर पत्रकारों की भारी भीड़ जमा होनी शुरू हो गई थी।


स्थानीय पुलिस-प्रशासन व एलआईयू लगातार स्थिति पर निगाह जमाए हुए था और पल-पल की रिपोर्ट जिला मुख्यालय को भेजी जा रही थी। आखिरकार प्रशासन को झुकना पड़ा और दोपहर 3 बजे डीएम के प्रतिनिधि के रूप में एडीएम प्रशासन अमित सिंह धरना स्थल पर पत्रकारों के बीच पहुंचे और पत्रकारों के सामने खेद व्यक्त करते हुए इस तरह का व्यवहार न किए जाने का आश्वासन दिया। इस अवसर कुछ पत्रकारों ने बीडीओ जानसठ की शिकायत अपर जिलाधिकारी से करते हुए कहा कि उनका व्यवहार भी पत्रकारों के प्रति नकारात्मक रहता है, जिस पर एडीएम प्रशासन अमित सिंह ने तत्काल बीडीओ को दूरभाष पर सख्त हिदायत देते हुए कहा कि किसी भी पत्रकार के साथ यदि नकारात्मक रवैया अपनाया तो बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अपर जिलाधिकारी के सहयोगात्मक व्यवहार से संतुष्ट पत्रकारों ने धरना-प्रदर्शन के समापन की घोषणा कर दी।

इससे पूर्व उक्त प्रकरण में आईएएस एसडीएम जानसठ के हुई पत्रकारो की वार्ता का कोई नतीजा नही निकला था, एसडीएम से वार्ता विफल होने के बाद ही पत्रकारों ने एसडीएम कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया था, जो आज डीएम के प्रतिनिधि के रूप में अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमित सिंह ने अपनी सूझबूझ से समाप्त कराया।