रोहिणी आचार्या ने नीतीश कुमार को दी ‘नसीहत’, कहा- जब संभल नहीं रही तो छोड़ क्यों नहीं देते कुर्सी

 


पटना। आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव की बेटी रोहिणी आचार्या लगातार ट्विटर पर रहती हैं। बिहार की राजनीति के साथ-साथ समस्याओं को लेकर वे इन दिनों लगातार ट्वीट भी कर रही हैं। बुधवार को एक ट्वीट से उन्होंने सरकार पर फिर हमला बोला और राज्य नहीं संभलने की बात कह डाली।
 किए गए ट्वीट में रोहिणी आचार्या ने लिखा “दिल पर हाथ रख कर पूछिए सरकार, क्या आप इस कुर्सी के काबिल हो..? जब संभल नहीं रहा है राज्य.. अपनी अंतरात्मा को जगा कर.. क्यों नहीं कुर्सी से उतर जाते जनाब? इसके पहले भी रोहिणी ने बुधवार को ही कई ट्वीट किए हैं। एक दूसरे पोस्ट में उन्होंने एंबुलेंस घोटाले की बात कहकर सवाल उठाया है। उन्होंने लिखा “एंबुलेंस घोटाले पर भी.. कुछ तो बोलिए या गर्दन का नस.. ज्यादा दबा दिया है कोई.. या घोटाले बाजों से.. कमीशन की खातिर.. मौनी बाबा बना हुआ है..!!
 दरअसल जिस एंबुलेंस घोटाले की बात रोहिणी ने की है वह सिवान से जुड़ा मामला है। सिवान जिले में एमएलए और एमएलसी फंड से करीब दस एंबुलेंस की कुछ दिनों पहले खरीदारी की गई है। कुछ एमएलसी टुन्ना पांडेय के फंड से हैं तो कुछ पूर्व के विधायक रमेश सिंह कुशवाहा और व्यासदेव प्रसाद के फंड से लिए गए हैं। अब इस मामले में रघुनाथपुर के पूर्व विधायक विक्रम कुंवर ने कहा है कि एक एंबुलेंस की ऑन रोड कीमत सात लाख रुपये है जिसे 22 लाख बताया गया है, यानी एक एंबुलेंस पर 15 लाख रुपये की हेराफेरी की गई है। हालांकि इस मामले में जांच की जा रही है।